इस चूहे को बहादुरी के लिए दिया गया गोल्ड मेडल, यकीन नहीं होता तो पढ़े पूरी खबर

 

आपने अभी तक बेहतरीन काम करने लोगों को गोल्ड मेडल हासिल करते तो खूब देखा होगा। किसी को पढ़ाई के लिए तो कभी किसी को खास क्षेत्र में विशिष्ट प्रदर्शन के लिए गोल्ड मेडल से सम्मानित किया जाता है। इसके साथ ही लोगों को उनकी बहादुरी के लिए भी यह पुरस्कार दिया जाता है। लेकिन क्या आपने कभी किसी चूहे को गोल्ड मेडल लेते देखा है।

इस चूहे का सोशल मीडिया दीवाना हुआ जा रहा है। चूहे का नाम है मागवा। पर इसे हीरो रैट के नाम से जाना जाता है। ये एक अफ्रीकन चूहा है। हीरो की खासियत ये है कि ये कई सालों से जिंदगियां बचा रहा है। अब आप सोच रहे होंगे भला चूहा कैसे जिंदगी बचा रहा होगा। हम बताते हैं दरअसल, हीरो रैट वो करता है जो कोई दूसरा चूहा नहीं करता। जी हां, हीरो रैट लैंडमाइंस यानी बारूदी सुरंगों का पता लगा लेता है। इसने कंबोडिया में लैंडमाइन्स का पता लगाने में सुरक्षाकर्मियों की मदद की थी। 

ब्रिटेन की चैरिटी संस्था पीडीएसए ने इस चूहे की 'बहादुरी और कर्तव्य के प्रति समर्पण' के लिए स्वर्ण पदक से सम्मानित किया है। मागावा को इस काम के लिए चैरिटी संस्था एपीओपीओ ने प्रशिक्षित किया था। इस चैरिटी ने बताया कि मागावा ने अपने काम से कंबोडिया में 20 फुटबॉल मैदानों (141,000 वर्ग मीटर) के बराबर के क्षेत्र को बारूदी सुरंगों और विस्फोटकों से मुक्त किया है। इन चूहों को चैरिटी संस्था एपीओपीओ ट्रेंड करती है। यह संस्था बेल्जियम में रजिस्टर्ड है और अफ्रीकी देश तंजानिया में काम करती है।

From around the web