यहां भगवान के बढ़ते पेट के कारण लगा रहता है लोगों को जमावड़ा,जानिए

 

​भगवान गणेश की पूजा हिन्दू घर्म में मुख्य माना जाता है और किसी भी शुभ कार्य को प्रारम्भ करने से पहले इनकी पूजा—अर्चना की जाती है ऐ​सी मान्यता है कि इनके पूजन मात्र से ही सभी कष्टों का निवारण हेा जाता है।इनके चमत्कारों के बारे में हम आज तक कहानियों और किताबों में पढ़ते आए हैजिसके कारण इन​​की पूजा सारी दुनिया में की जाती है ।और इसी आस्था के चलते कई  जगहों पर इनके गुणगान किए जाते है। लेकिन आज हम आपको इनके एक ऐसे मंदिर चमत्कारी मंदिर के बारे में बताने जा रहे है ​जिसे सुनकर आपका भगवान होने पर विश्वास हो जाएगा  जी हां यहां गणेश की मूर्ति का आकार दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है जिसके चलते ये मंदिर काफी फेमस हो रहा है।आज हम आपको ऐसा ही अद्भध्त मंदिर के बारे में बताएगे जिसके बारे में सुनते ही आप चमत्कारों पर यकीन करने लगोगे। दरअसल ये ​मंदिर स्थित है आंध्रप्रदेश के चित्तूर जिले में।जिसे कनिपक्कम विनायकजी के नाम से जाना जाता है।इस​की स्थापना 11वीं सदी में राजा कुलोतुंग चोल प्रथम ने की थी।यहां गणेशजी की  एक प्रतिमा मिली है जिसका आकार प्रतिदिन बढ़ रहा है इस बात का पता तब चला जब यहां आने वाले एक भक्त ने पुजारी को कवच दिया थाजो उस समय तो मूर्ति को पहनाने पर तो मूर्ति के आ गया था लेकिन बाद में जब पहनाया तो नहीें आया। जिसका  कारण मूर्ति का पेट बढ़ना बताया जा रहा है फिर ऐसा कई बार होते देखा गया जिसके बाद से इस चमत्कररिक गणेश मूर्ति को देखने के लिए दूर—दूर से लोग आने लगे जिसके चलते यहां लोगों की बहुत भीड़ को जमावड़ा लगा रहता है और इसकी चर्चा हर कोई कर रहा है।

देश, विदेश, बिज़नेस, मनोरंजन और ऐसी सभी ख़बरों से जुड़े रहने के लिए हमारी ऐन्ड्रॉइड ऐप डाउनलोड करें - Bebak Post की App डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें  

From around the web

>