इस तस्वीर को zoom करके देखने पर सच में आपके होश उड़ जायेंगे
 

 

यूँ तो आपको आये दिन सोशल मीडिया पर कई तरह की अजीबोगरीब घटनाएं देखने को मिलती ही रहती है. इनमे से कुछ घटनाएं तो ख़ुशी देने वाली होती है, तो कुछ ऐसी भी होती है, जिन्हे देख कर हम परेशान हो जाते है. मगर आज जिन घटनाओ से हम आपको रूबरू करवाने वाले है, उनके बारे में जान कर और सुन कर आप भी हैरान रह जायेंगे. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि यहाँ हम आपको एक ऐसी तस्वीर दिखाने वाले है, जो कि एक महिला की है. जी हां आपको जान कर ताज्जुब होगा कि बहुत से लोग ऐसे है, जिन्हे इस तस्वीर को देख कर इससे आपत्ति भी होने लगी थी. बरहलाल लोगो को इस तस्वीर से आपत्ति क्यों हुई, इसका अंदाजा तो आपको खुद इस तस्वीर को देखने के बाद हो ही जाएगा.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि अब जिस घटना के बारे में हम आपको बताने वाले है, वो घटना न्यूयार्क के मेट्रोपॉलिटन की है. जी हां यहाँ म्यूजिम में 79 वर्ष पुरानी एक पेंटिंग लगी हुई थी और इस पेंटिंग पर मुकदमा भी दायर किया गया. अब आप सोच रहे होंगे कि भला एक पेंटिंग पर मुकदमा क्यों दर्ज करवाया गया. गौरतलब है कि ये पेंटिंग साल 1938 में पेंटर बालथस द्वारा बनाई गई थी. इस तस्वीर में एक लड़की चेयर पर बैठ कर कुछ सोच रही है. दरअसल इसी दौरान न्यूयार्क की एक महिला मिया मेर्रिल ने इस तस्वीर को बेहद आपत्तिजनक कह दिया.

जिसके चलते वो महिला सुर्खियों में आ गई. बता दे कि इस पेंटिंग के खिलाफ न केवल याचिका दर्ज करवाई गई, बल्कि इसे म्यूजिम से हटाने की मांग भी की गई. जी हां बता दे कि मिया ने पेंटर के खिलाफ ऐसी आपत्तिजनक पेंटिंग बनाने के लिए शिकायत दर्ज करवाई और उसकी पेंटिंग को जल्द से जल्द वहां से हटवाने की मांग भी की. वैसे अब हम आपको ये भी बताते है कि आखिर उस महिला को इस पेंटिंग में गलत क्या लगा था. दरअसल महिला के अनुसार इस पेंटिंग में एक टीनएज लड़की को सेक्शुअली दिखाया गया है.

जिस वजह से काफी लोगो ने इसका विरोध भी किया है. जी हां ऐसे में सभी लोग ने एक होकर इस पेंटिंग को हटवाने की मांग की थी. हालांकि इस पेंटिंग को बनाने वाले पेंटर के बारे में ऐसा कहा जाता है कि इस पेंटर को नाजाने जवान होती लड़कियों से ऐसा कौन सा मोह था, कि उन्होंने इस तरह की पेंटिंग बना दी. इसके साथ ही कुछ लोगो का ये भी मानना है कि पता नहीं म्यूजिम ने भी इस पेंटिंग को किस उद्देश्य से डिस्प्ले पर लगा रखा है.

बरहलाल आज कल जिस तरह से सेक्शुअल असॉल्ट की वारदाते बढ़ रही है, उसे देखते हुए ऐसी आपत्तिजनक तस्वीरो को हटाना ही बेहतर है. फ़िलहाल कोर्ट इस मामले को लेकर सोच विचार कर रही है और वो जल्द ही अपना फैसला भी सुनाएगी.

From around the web