किसी भी लड़की के साथ सम्बन्ध बनाते ही, उसे मिल जाएंगे आपके ये अधिकार
 

 

आज के जमाने में बहुत सी चीजें बदल गई है जहां लोगों के लाइफस्टाइल में जो बदलाव आए है उससे लगता है कि उनको कई प्रकार से ऐसे बदलाव आना क्या ठीक है। लाइफस्टाइल के साथ लोगों के रहने में और खान पान जैसी मुख्य चीजों में भी कई सारें बदलाव आए है। वहीं अगर पहले की तुलना में आज के युग को देखा जाए तो इन बदलाव से हमें काफी तरह के नुकसान ही हुए है। ऐसा कहा कि पहले के समय में लोगों को कम बीमारियां होती थी क्योंकि उनके खान पान और रहने का तरीका अलग होता था। लेकिन आज के युग की बात करें को हमारे खाने से लेकर हमारे रहने तक सभी चीजों से हमें अक्सर परेशानियां ही होती हुई आई है।

पहले के समय में ऐसा कहा जाता था कि शादी से पहले किसी भी तरह के लड़के को या फिर किसी लड़की को शारिरीक संबधं नहीं बनाना चाहिए क्योंकि उस समय में ऐसा करने वालों को लोग नाजायज संबधं मानते थे। लेकिन आज के समय में दौर बदला है वहीं तो लोगों की सोच में भी कई तरह से बदलाव आए है। आज के युग में एक लड़का किसी भी लड़की के साथ अपने संबधं बना सकते है वो उनकी अपनी सोच है लेकिन अगर आप किसी लड़के और लड़की से साथ अपने संबधं बनाते है तो आपको पता होना चाहिए कि आपके आप उस व्यक्ति के कौन कौन से चीजों पर अधिकार होता है। जी हां दोस्तों आज हम आपको इस बारें में ही बताने जा रहे है कि अगर आपने अपने पार्टनर के साथ सेक्स किया है तो उस पार्टनर की इस चीजों के आप खुद मालिक बन जाते है। आज हम आपको उन ही चीजों के बारें में बताने जा रहे है। वहीं इन अधिकार को कोई कोई भी व्यक्ति महिलाओं को लेने से रोक नहीं सकता। इन अधिकारों पर हर महिला को कुछ पर्सनल Rights मिले हुए हैं। वहीं इन अधिकारों को किसी भी तरह से कोई भी इंसान नहीं रोक सकता है। वही अगर हिदूं धर्म की बात माने तो किसी भी लड़की के साथ लड़का शारीरिक संबंध बनाता है तो वो लड़की उस लड़के की आधी संपत्ति की अपने आप मालिक बन जाएगी।

वही इसी तरह कुछ और आधिकार दिए गए है महिला को जिसके बारें में हर महिला को पता होता है। इसके साथ ही कोई लड़की जो बलात्कार की शिकार हुई है और उसके पास पैसे नहीं है तो उस महिला को मुफ्त में कानूनी मदद पाने का अधिकार होता है।

ऐसे मामले में अक्सर लीगल सर्विस अथॉरिटी को महिला के लिए वकील की व्यवस्था करनी होती है। वहीं अगर रेप की बात आती है और उस केस में महिला आरोपी है तो उसकी मेडिकल जांच के लिए कोई महिला ही कर सकती है और आरोपी महिला की मेडिकल जांच का आधिकार केवल किसी महिला ही आधिकारी को ही दिया जाता है। वहीं पुश्तैनी संपत्ति या फिर जमीन जायजात पर भी महिला और पुरुष का बराबर ही हक होता है। आपको बता दें कि ये अधिकार महिलाओं को हिंदू उत्तराधिकार अधिनियम के तहत मिला हुआ है। अपने दफतर या फिर किसी वर्क प्लेस पर यदि किसी महिला का यौन उत्पीड़न होता है तो वह यौन उत्पीड़न अधिनियम के तहत इसके खिलाफ शिकायत दर्ज करवा सकती है।

From around the web