देश के लिए आने वाले चार हफ्ते होंगे जोखिम भरे: डॉ. वीके पॉल

 

देश में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के मद्देनजर नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने बताया कि आने वाले चार हफ्ते काफी जोखिम भरे साबित होंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर पर काबू पाया जा सकता है। 

वीके पॉल ने मंगलवार को कहा कि जिस तरह देश ने कोरोना की पहली लहर को हराया था उसी तरह अब दूसरी लहर को भी सब मिलकर हरा सकते हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को अब ज्यादा सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि अब नए मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसको रोकने के लिए राज्य सरकारों को भी अधिक सतर्कता बरतनी होगी।

टीकाकरण कार्यक्रम पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि देश में अमेरिका के बाद सबसे तेज गति से वैक्सीन लगाने का काम चल रहा है। अमेरिका में जहां प्रतिदिन 30 लाख से अधिक टीके लगाए जा रहे हैं वहीं, भारत में 26.22 लाख टीके प्रतिदिन लगाए जा रहे हैं। वहीं, ब्राजील, फ्रांस, ब्रिटेन जैसे देश 2-6 लाख प्रतिदिन टीके लगा पा रहे हैं। प्राथमिकता के आधार पर लगाए जा रहे हैं टीके डॉ. पॉल ने कहा कि देश में सबसे पहले उन लोगों को टीका लगाया जो कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा खतरे में थे। उसके बाद 60 साल से ऊपर के उम्र वालों को टीका लगाया गया है। इस तरह की रणनीति सभी देश अपना रहे हैं। कुंभ मेले में कोरोना फैलने की संभावना के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि वहां का प्रशासन अपनी तरीके से इस पर काम कर रहा है। अभी से कयास लगाना सही नहीं है। 

From around the web

>