सुप्रीम कोर्ट का आदेश, 16 जून को नहीं होगी INI CET की परीक्षा

 
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान द्वारा मेडिकल पीजी कोर्सेज़ में एडमिशन के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा स्थगित कर दी गई है। इस परीक्षा का नाम है इंस्टीट्यूट्स ऑफ नेशनल इंपॉर्टेंस कंबाइंड एंट्रेंस टेस्ट।
सुप्रीम कोर्ट में इस पर सुनवाई चल रही थी। अब शीर्ष अदालत ने अपना फैसला सुना दिया है।
आईएनआई सीईटी 2021 का आयोजन 16 जून को होने वाला था लेकिन 23 एमबीबीएस डॉक्टर्स ने इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी। उनका कहना था कि कोविड-19 के बीच डॉक्टर्स को अपनी सेवाएं देनी है। सरकार ने कोरोना की दूसरी लहर के बीच सभी डॉक्टर्स को कम से कम 100 दिन की सेवा देने के लिए कहा है। इस बीच मेडिकल पीजी एंट्रेंस एग्जाम कराना उचित नहीं है।
याचिकाकर्ता ने दलील दी कि प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने सभी पीजी एग्जाम्स अगस्त 2021 के बाद कराने के लिए कहा था। साथ ही स्टूडेंट्स को एक महीने पहले इसकी सूचना देने के लिए कहा गया था। लेकिन एम्स प्रशासन ने इसके विपरीत फैसला लिया है।
मौजूदा हालात को मद्देनजर रखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने एम्स आईएनआई सीईटी एग्जाम 2021 एक महीने के लिए स्थगित करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा है कि एक महीने के बाद कभी भी परीक्षा ली जा सकती है।
इस परीक्षा के जरिये एम्स AIIMS, जिपमर (JIPMER) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरो साइंसेज़ (NIMHANS) में मेडिकल पीजी एडमिशन के लिए ली जाती है। इस साल यह एग्जाम पहले 7 मई को होने वाला था। लेकिन इसे नीट पीजी 2021 (NEET PG 2021) के साथ स्थगित कर दिया गया था। 27 मई को नई तारीख की घोषणा हुई और बताया गया था कि आईएनआई सीईटी 2021 अब 16 जून को होगा। कोर्ट के आदेश के बाद वह भी स्थगित हो गया है।

From around the web

>