शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, आर्यन को टारगेट कर शाहरुख से हिसाब चुकता किया जा रहा

 
 अपने बयानों के कारण अक्सर ही सुर्खियों में रहने वाले अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने आर्यन खान ड्रग्स केस पर बात की है।शाहरुख खान के बेटे से जुड़े मामले में शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रतिक्रिया देकर न सिर्फ फिल्म इंडस्ट्री को डरपोक बताया, बल्कि यह तक कहा कि शाहरुख का बेटा होने के नाते आर्यन को टारगेट किया जा रहा है।
बता दें कि क्रूज ड्रग्स केस में आर्यन के गिरफ्तार होने के बाद फिल्म इंडस्ट्री के कुछ लोग शाहरुख और उनके परिवार के सपॉर्ट में आए हैं।लेकिन अभी भी बहुत से सिलेब्रिटी चुप्पी साधे हुए हैं। बहुत से लोगों का मानना है कि आर्यन को सिर्फ इसकारण टारगेट किया जा रहा है, क्योंकि वह शाहरुख के बेटे हैं।एक इंटरव्यू में शत्रुघ्न सिन्हा से जब पूछा गया कि फिल्म इंडस्ट्री एकजुटता दिखाने और शाहरुख को सपॉर्ट करने में इतनी देरी क्यों दिखा रही है,तब सिन्हा ने कहा, कोई भी आगे नहीं आना चाहता। हर कोई सोचता है, कि यह दूसरे की प्रॉब्लम है और उसे ही इससे डील करना चाहिए।वहां लोग चाहते हैं कि आदमी अपनी लड़ाई खुद ही लड़े। इस इंडस्ट्री में डरपोक लोग भरे हुए हैं। गोदी मीडिया की तरह ही वहां गोदी कलाकार हैं।'
शत्रुघ्न सिन्हा से पूछा गया कि क्या शाहरुख को उनके धर्म के कारण टारगेट किया जा रहा है? इसपर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, ऐसा कहना गलत होगा कि शाहरुख के धर्म के कारण उन्हें टारगेट किया जा रहा है। लेकिन हां, अब कुछ लोगों ने उस चीज को लेकर भी बोलना शुरू कर दिया है, जो बिल्कुल भी सही नहीं है। जो कोई भी भारतीय है, वह भारत का बेटा है। संविधान के तहत सभी लोग बराबर हैं। हालांकि शत्रुघ्न ने माना कि आर्यन को इसकारण टारगेट किया जा रहा है क्योंकि वह शाहरुख के बेटे हैं। उन्होंने कहा, शाहरुख ही वजह हैं,इस कारण आर्यन को टारगेट किया जा रहा है। और भी लोग हैं, जैसे कि मुनमुन धमेचा और अरबाज मर्चेंट, लेकिन उनके बारे में कोई बात नहीं कर रहा है। पिछली बार भी ऐसा ही कुछ हुआ था। उस वक्त पूरा फोकस दीपिका पादुकोण पर था। तब मामले में और भी लोगों का नाम शामिल था, लेकिन फोकस सिर्फ दीपिका पर था।'
शत्रुघ्न सिन्हा का मानना है कि आर्यन के द्वारा कुछ लोग शाहरुख खान के संग अपना हिसाब बराबर कर रहे हैं। शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, इस बार उनके पास आर्यन खान है,जिससे वह खेल सकते हैं, क्योंकि वह शाहरुख खान का बेटा है और अब उनके पास अभिनेता के साथ हिसाब बराबर करने का पूरा मौका है। हम सभी जानते हैं कि एनसीबी को आर्यन के पास से कोई ड्रग्स बरामद नहीं हुआ है और न ही कोई फंसाने वाली चीज। अगर उसके पास से एनसीबी को ड्रग मिला भी होता तो तब भी एक साल की जेल की सजा होती, पर इस मामले में ऐसा भी कुछ नहीं है।'
शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा,मामले में एक और जरूरी सवाल यह है कि आर्यन और अन्य लोगों को अरेस्ट करने के बाद उनका ब्लड और यूरिन टेस्ट क्यों नहीं किया गया? इस तरह के मामलों में ये टेस्ट किया जाना सामान्य बात है।' शत्रुघ्न सिन्हा ने आर्यन ड्रग्स केस में कुछ राजनीतिक सहयोगियों के मौजूद रहने की ओर भी इशारा किया। शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि अरबाज, आर्यन और मुनमुन की हिरासत के वक्त एक पॉलिटिकल पार्टी का सदस्य पंच के तौर पर मौजूद था। वह एनसीबी ऑफिस के बाहर इसतरह से घूम रहा था मानो कुंभ मेले में घूम रहा हो। उसके अलावा उस एक आदमी को किसने परमिशन दी? सबसे बड़ा सवाल तो यह है कि केस की जांच पूरी होने से पहले ही उन तीन लोगों को क्यों जाने दिया? जिस शख्स का क्रिमिनल रिकॉर्ड है, वह आर्यन के साथ उस सेल्फी ले रहा था जैसे कि वहां घर का दामाद था। यह सब दिखाता है कि आंखों को जो दिख रहा है, मामले में इससे भी कहीं और ज्यादा छिपा है।

From around the web