राष्ट्रपति ने शहीदी दिवस पर गुरु तेग बहादुर को दी श्रद्धांजलि

 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने सिखों के नौवें गुरु तेग बहादुर के ‘शहीदी दिवस’ पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। राष्ट्रपति कोविन्द ने बुधवार को ट्वीट कर कहा, “अन्याय के विरुद्ध संघर्ष व बलिदान के प्रतीक श्री गुरु तेग बहादुर जी के शहीदी दिवस पर मैं उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। उन्होंने मानवता की रक्षा के लिए अपने जीवन की आहुति दी थी। आइए, हम उनके आदर्शों का अनुसरण करते हुए मानवता के कल्याण के लिए कार्य करने का संकल्प लें।”

मुगल बादशाह औरंगजेब द्वारा पांच दिनों तक शारीरिक यातनाएं देने के बावजूद गुरु तेग बहादुर ने इस्लाम धर्म को नहीं अपनाया था। गुरु तेग बहादुर के धैर्य और संयम से आग बबूला होकर औरंगजेब ने चांदनी चौक पर उनका शीश काटने का आदेश दे दिया। जिसके बाद 24 नवम्बर 1675 को गुरु तेग बहादुर ने अपनी धर्म की रक्षा में अपना बलिदान दे दिया था। चांदनी चौक में स्थित गुरुद्वारा शीश गंज साहिब और नई दिल्ली में गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब उनके निष्पादन और दाह संस्कार के स्थल हैं।

From around the web