पायलट यूनियन की चेतावनी, प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन नहीं लगी तो रोक देंगे काम

 

एयर इंडिया के पायलटों के संगठन इंडियन कमर्शियल पायलट्स एसोसिएशन (आईसीपीए) ने 18 वर्ष के अधिक उम्र के फ्लाइंग क्रू को प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन लगाने की मांग की है। पायलटों का कहना है कि अगर ऐसा नहीं होता है तो वे उड़ानों का संचालन बंद कर देंगे। एयर इंडिया के परिचालन निदेशक आर. एस. संधू को लिखे गए एक पत्र में आईसीपीए ने कहा कि फ्लाइंग क्रू को बिना हेल्थ केयर सपोर्ट और वेतन कटौती के कारण हम इस स्थिति में नहीं है कि वैक्सीनेशन के बिना अपने पायलट की जान लगातार जोखिम में डालते रहें।

पायलट यूनियन ने परिचालन निदेशक को कहा है कि एयर इंडिया विमानों पर जाने वाले अपने कर्मचारियों का प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीनेशन नहीं किया गया तो वे काम को रोक देंगे। चेतावनी देते हुए मांग की गई है कि 18 वर्ष से अधिक के सभी फ्लाइंग क्रू के लिए देश भर में वैक्सीनेशन कैंप लगाकर प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन की डोज लगाई जानी चाहिए, अन्यथा हम काम रोक देंगे, जिससे तमाम उड़ानें प्रभावित होगी।

एसोसिएशन के अनुसार, कई चालक दल के सदस्य कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं और वे ऑक्सीजन सिलेंडर पाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। पत्र में कहा गया है कि क्रू मेंबर और उनके परिवार वाले ऑक्सीजन सिलेंडर पाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं और हमें अस्पताल में भर्ती होने व इलाज के लिए अपने ऊपर छोड़ दिया गया है। कहा गया है कि वैक्सीनेशन के बिना पायलट की जान जोखिम में है। इसके साथ ही एसोसिएशन ने वेतन कटौती की आलोचना भी की है।

From around the web

>