एनआईए ने लांजी नक्सली हमला मामले में मध्यप्रदेश में की छापेमारी, कई समान बरामद

 

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) चाईबासा जिले के टोकलो थाना क्षेत्र स्थित लांजी गांव के नक्सलियों की ओर से आईडी विस्फोट की जांच कर रही है। एनआईए सूत्रों के मुताबिक इसी क्रम में आज मध्य प्रदेश के शहडोल जिला के बियोहारी थाना क्षेत्र स्थित बंशुकली चौराहा में एक आवासीय परिसर की तलाशी ली गयी। इस दौरान मोबाइल फोन, हाथ से लिखी डायरी और अन्य संदिग्ध समान बरामद किया गया है। आगे की जांच जारी है।

इससे पूर्व मामले में एनआईए ब्रांच रांची ने मध्यप्रदेश का रहने वाला जैकी पारदी को 29 नवंबर तक रिमांड पर लिया है। इससे पहले एनआईए ने 23 नवंबर तक रिमांड पर लिया था। शीर्ष माओवादियों तक एके-47 जैसे घातक हथियार की सप्लाई करने वाला एमपी का जैकी पारदी की एनआईए ने रिमांड की अवधि बढ़ा दी है। जैकी पारदी मूल रूप से मध्यप्रदेश के कटनी जिले के बहरी थाना क्षेत्र स्थित हीरापुर गांव का रहने वाला है।

उल्लेखनीय है कि चाईबासा जिले के लांजी गांव में मार्च 2021 में माओवादियों ने पुलिसकर्मियों को डायरेक्शनल लैंडमाइंस के जरिए निशाना बनाया था। माओवादियों के इस हमले में तीन पुलिस जवान शहीद हो गए थे। इस मामले में एनआईए ने कई संदिग्ध और माओवादियों से पूछताछ की थी। इसी पूछताछ के दौरान हथियार सप्लायर के तौर पर मध्यप्रदेश के जैकी पारदी का नाम सामने आया था। इसके बाद पुलिस ने उसे पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया था। बीते कई वर्षों से जैकी झारखंड में आर्म्स की सप्लायी कर रहा था।

From around the web