जम्मू-कश्मीरः LoC पर घुसपैठ की कोशिश नाकाम, एक आतंकी ढेर

 

भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा (LoC) पर घुसपैठ की एक कोशिश को नाकाम कर दिया है, जिसमें एक आतंकवादी मारा गया है। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता, लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा, “25 नवंबर, 2021 की रात को, पाकिस्तानी आतंकवादी ने जम्मू-कश्मीर के भींबर गली सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ की कोशिश की।” “अलर्ट भारतीय सेना के सैनिकों ने घुसपैठ के प्रयास को सफलतापूर्वक नाकाम कर दिया। एक पाकिस्तानी आतंकवादी की मौत हो गई है। हथियार और गोला-बारूद के साथ आतंकवादी का शव बरामद किया गया है।ऑपरेशन अभी जारी है।

एनआईए की कश्मीर में कई जगह छापेमारी

वहीं राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने उत्तर प्रदेश के लखनऊ के अलकायदा मामले में गुरुवार को कश्मीर में कई जगहों पर छापेमारी की। एजेंसी ने कहा कि उन्होंने कश्मीर के शोपियां और बडगाम जिलों में पांच स्थानों पर तलाशी ली। एनआईए ने कहा, “आज की गई तलाशी के दौरान बड़ी संख्या में आपत्तिजनक दस्तावेज और डिजिटल उपकरण जब्त किए गए हैं।” यह मामला अल-कायदा के एक सदस्य उमर हलमंडी से संबंधित है, जो अन्य आरोपी व्यक्तियों के साथ, भारतीय उपमहाद्वीप में अल-कायदा के लिए भोले-भाले व्यक्तियों को कट्टरपंथी बना रहा था और अपने संगठन में भर्ती कर रहा था।

गौरतलब है कि भारत में अल-कायदा की आतंकवादी गतिविधियां संचालित करने वाला उमर हलमंडी मूल रूप से यूपी के संभल जिले का रहने वाला है। वह पाकिस्तान-अफगानिस्तान बार्डर क्षेत्र से आतंकवादी गतिविधियां संचालित करता रहा है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को लंबे समय से उसकी तलाश है। उमर ने ही भारत में अल-कायदा के माड्यूल को खड़ा किया है। यह माड्यूल अंसार गजवातुल हिंद (एजीएच) है, जो अल कायदा का ही अंग है। उसने कुछ जेहादी प्रवृत्ति के कुछ व्यक्तियों को नियुक्त कर लखनऊ में भी अल-कायदा का माड्यूल खड़ा किया है। मामला शुरू में 11 जुलाई, 2021 को उत्तर प्रदेश द्वारा दर्ज किया गया था और एनआईए ने 29 जुलाई, 2021 को मामले को संभाला था।

From around the web