आईएमडी का पूर्वानुमान : इस बार गर्मी कहर ढाएंगी

 

 इस बार गर्मी अपने पूरे जोश में रहेगी और तापमान लोगों को बैचेन कर देगा। भारत के मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने गर्मियों से जुड़े अपने पूर्वानुमान में ऐसी ही संभावना जताई है कि उत्तर और पूर्वी भारत में अप्रैल से जून तक दिन का तापमान सामान्य से अधिक रह सकता है। आईएमडी ने कहा कि दक्षिण भारत के अधिकतर हिस्सों, पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों, पूर्वोत्तर आदि क्षेत्रों में अधिकतम तापमान के सामान्य स्तर से कम रहने का अनुमान है। मौसम विज्ञान विभाग ने कहा, 'गर्मियों के मौसम (अप्रैल से जून) में उत्तर, उत्तर-पश्चिम के अधिकांश हिस्सों और पूर्व मध्य भारत के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान के सामान्य से ऊपर रहने का अनुमान है। खास बात यह है कि देश के कई हिस्सों में मार्च महीने में ही अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर चला गया।
पिछले चार-पांच दिन में देश के कई हिस्सों में, खासकर राजस्थान में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पहुंच चुका है। राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को ‘भीषण’ लू चली क्योंकि तापमान 40.1 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया जिससे 76 साल में मार्च का यह सबसे गर्म दिन साबित हुआ। मंगलवार को दिल्ली समेत कुछ राज्यों में धूल भरी आंधी भी चली लेकिन तापमान में थोड़ी गिरावट से गर्मी से राहत मिली। मौसम विभाग ने यह भी कहा कि अगले दो दिनों तक अधिकतम तापमान में 3 से 5 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट आ सकती है। इससे उत्तर भारत के मैदानी इलाकों को अगले 2 दिनों तक लू से राहत मिलेगी। हालांकि, यह राहत बस थोड़े ही समय की है, 3 अप्रैल से फिर लू चलने का पूर्वानुमान है।

From around the web

>