RT-PCR टेस्ट को लेकर ICMR ने जारी की नई एडवाइजरी

 

देश में एक बार फिर कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी होने लगी है। इसी बीच भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने महामारी की दूसरी लहर के दौरान कोरोना टेस्ट जारी रखने की सलाह दी है। आईसीएमआर ने कहा कि उन लोगों का दोबारा टेस्ट न किया जाए जिनका एक बार RTPCR या RAT टेस्ट पॉजिटिव आ गया है।

आईसीएमआर ने कहा कि अंतर-राज्यीय घरेलू यात्रा करने वाले स्वस्थ व्यक्तियों का RTPCR टेस्ट करने की आवश्यकता नहीं है। इससे न करके प्रयोगशालाओं के भार को कम किया जा सकता है। उनका कहना है कि यात्रियों को कोरोना से जुड़ी सभी गाइडलाइनस का पालन करना चाहिए। जिससे कोरोना के संक्रमण को कम किया जा सकेगा।

1. जो लोग एक बार पॉजिटिव आ चुके हैं उनका बार-बार RT-PCR टेस्ट नहीं किया जाना चाहिए।

2. कोरोना से रिकवर होने के बाद RT-PCR टेस्ट कराने की जरूरत नहीं।

3. अंतर-राज्यीय घरेलू यात्रा करने वाले स्वस्थ व्यक्तियों का RTPCR टेस्ट करने की आवश्यकता नहीं।

आईसीएमआर ने कहा कि देश में कोरोना के मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे हैं। देश में पॉजिटिवी रेट 20 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग, कोरोना संक्रमितों के संपर्क में लोगों का टेस्ट, उचित दूरी बनाकर रखना, मास्क पहनना इससे लड़ने का सबसे बेहतर तरीका है। आईसीएमआर ने कहा कि प्राइवेट और सरकारी अस्पताल दोनों से ही आरटी-पीसीआर टेस्ट का पूरी उपयोग करने को कहा।

From around the web

>