किसानों ने बुलंद की आवाज, मंत्री अजय मिश्रा ने नहीं दिया इस्तीफा तो 26 अक्टूबर को लखनऊ में महापंचायत

 

लखीमपुर हिंसा मामला शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। इस मामले के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) की गिरफ्तारी के बाद भी किसान शांत नहीं हो रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tiket) ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के इस्तीफे की मांग की है और कहा है कि अगर ऐसा नहीं होता है तो किसान 26 अक्टूबर को लखनऊ में महापंचायत करेंगे।

किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tiket) ने साफ कहा है कि, जबतक अजय मिश्रा (Ajay Mishra) अपने पद पर बने रहेंगे तबतक लखीमपुर की निष्पक्ष जांच नहीं हो सकती है। ऐसे में उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना ही होगा, नहीं तो किसान आंदोलन करेंगे।

किसान अब उठाने जा रहे ये बड़े कदम

अरदास में किसानों कई बड़े फैसलें लिए है जिसके अनुसार, पूरे देश में 15 अक्टूबर को किसान संगठन प्रधानमंत्री का पुतला फूंकेंगे। 18 अक्टूबर को देश में ट्रेनें रोकी जाएंगी। 24 अक्टूबर को किसानों की अस्थियों का विसर्जन किया जाएगा और 5 मृतक किसानों का शहीदी स्मारक बनाया जाएगा। इसके बाद 26 अक्टूबर को लखनऊ में महापंचायत का आयोजन होगा।

देश के हर जिले में लेजाई जाएंगी किसानों की अस्थियां

यूपी में हुई लखीमपुर हिंसा ने ऐसा तूल पकड़ लिया है कि, अब इस हिंसा में मारे गए किसानों की अस्थियों को देश के हर जिले में ले जाने की बात कही जा रही है। राकेश टिकैत ने कहा है कि हिंसा में मारे गए किसानों के अस्थि कलश देश के हर जिले में ले जाएंगे और लोग उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे।

From around the web