एंटीलिया प्रकरण : सचिन वाझे की एनआईए कस्टडी 9 अप्रैल तक बढ़ी

 

 एंटीलिया प्रकरण और मनसुख हिरेन मौत मामले में गिरफ्तार निलंबित सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाझे की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) कस्टडी बुधवार को विशेष कोर्ट ने 9 अप्रैल तक बढ़ा दी है। साथ ही विशेष कोर्ट ने केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को भी सचिन वाझे से 100 करोड़ रुपये की रंगदारी वसूली मामले में पूछताछ की अनुमति दे दी है। 

सीबीआई ने विशेष कोर्ट में इस मामले में पूछताछ के लिए सचिन वाझे की कस्टडी की मांग की थी। विशेष कोर्ट ने कहा कि सीबीआई एनआईए से को-आर्डिनेट कर सचिन वाझे से पूछताछ कर सकती है। 

उद्योगपति मुकेश अंबानी के दक्षिण मुंबई स्थित आवास एंटीलिया के पास से 25 फरवरी को संदिग्ध हालात में खड़ी स्कॉर्पियो कार मिली थी, जिसमें से जिलेटिन की 20 छड़ें बरामद की गई थीं। इसी सिलसिले में 13 मार्च की रात्रि में सचिन वाझे की गिरफ्तारी हुई थी। वाझे (49) ठाणे के कारोबारी मनसुख हिरेन की हत्या मामले में भी आरोपित हैं। अंबानी के घर के पास मिली स्कॉर्पियो कार मनसुख हिरेन की ही थी। हिरेन पांच मार्च को ठाणे जिले के क्रीक में मृत पाए गए थे। मुंबई पुलिस ने 15 मार्च को सचिन वाझे को सहायक निरीक्षक पद से निलंबित कर दिया था। वसूली मामले में एनआईए ने आज मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह से 4 घंटे तक पूछताछ की है। 

उल्लेखनीय है कि हाईकोर्ट ने पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के 100 करोड़ रुपये रंगदारी वसूलने के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर लगाए गए आरोप की प्राथमिक जांच करने का आदेश सीबीआई को सौंपा है। इस मामले की जांच के लिए सीबीआई की दो टीम मुंबई पहुंच चुकी हैं।  

From around the web

>