एम्स के निदेशक ने चेताया कोरोना के मरीज भूलकर भी ना करें यह गलती,वर्ना बन जाओगे कैंसर के मरीज

 

एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कॉविड 19 के हल के संक्रमण के मामले में सीटी स्कैन कराए जाने को लेकर सोमवार को जनता को आगाह किया और कहा कि इसके दुष्प्रभाव होते हैं सिटी स्कैन के फायदे से अधिक नुकसान उठाना पड़ सकता है कल के संक्रमण के मामलों में सीटी स्कैन नहीं कराने पर जोर देते हुए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि कई लोग कोरोनावायरस में पाए जाने के बाद सिटी स्कैन करा रहे हैं साथ ही उन्हें आगाह किया कि बिना जरूरत के सीटी स्कैन कराए जाने से नुकसान उठाना पड़ सकता है।


युवावस्था में बार-बार सीटी स्कैन कराने से आपको कैंसर का खतरा बढ़ सकता है खुद को बार-बार रेडिएशन के संपर्क में लाने से नुकसान हो सकता है इसलिए ऑक्सीजन स्तर सामान्य होने की दशा में हल्का संतुलन होने पर पेट स्कैन कराने का कोई औचित्य नहीं है एम्स निदेशक ने सुझाव दिया कि अस्पताल में भर्ती होने एवं मध्यम संकलन होने की सूरत में सीटी स्कैन नहीं कराया जाना चाहिए।

लाल कोरोना के मामलों में मृत्यु दर में थोड़ी गिरावट देखी गई है जो फिलहाल 1.5% है इसके अलावा 24 घंटे के दौरान 3417 रोगियों की मौत हुई है महाराष्ट्र में सबसे अधिक शतक 669 रोगियों की मौत हुई है।

From around the web

>