पंजाब में बढ़ी AAP की मुश्किल, केजरीवाल के कैंपेन को लेकर EC ने थमाया नोटिस

 

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। दरअसल, विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन करने को लेकर चुनाव आयोग की ओर से आम आदमी पार्टी को पहला नोटिस मिला है। चुनाव आयोग ने यह नोटिस दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के खरड़ में डोर-टू-डोर कैंपेन के दौरान पांच से अधिक लोगों के शामिल होने को लेकर जारी किया है। आयोग ने आप को इस नोटिस पर 24 घंटे में जवाब देने को कहा है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए निर्वाचन आयोग ने 15 जनवरी तक किसी भी रैली या बड़े जमावड़े पर रोक लगाई हुई है।

खरड़ में डोर-टू-डोर कैंपेन के दौरान खुद अरविंद केजरीवाल ने लोगों से 14 फरवरी को होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को वोट देने की अपील की। नोटिस में खरड़ के रिटर्निंग ऑफिसर ने कहा है कि आप वॉलंटियर्स ने पांच से ज्यादा की संख्या में जुटकर कैंपेन के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन किया है। जवाब देने के लिए 24 घंटे का समय देते हुए रिटर्निंग ऑफिसर ने यह भी कहा है कि यदि पार्टी इस समयसीमा में जवाब नहीं देती है तो फिर उसे निर्वाचन आयोग की कार्रवाई झेलनी होगी।

डोर-टु-डोर कैंपेन के दौरान केजरीवाल ने बुधवार को पंजाब पहुंचकर मोहाली जिले में अपने पार्टी उम्मीदवार के लिए घर -घर जाकर प्रचार कर पार्टी के लिए वोट मांगे । केजरीवाल ने पार्टी के पंजाब प्रधान भगवंत मान और खरड़ से आप प्रत्याशी अनमोल गगन मान के साथ घर-घर जाकर लोगों से मुलाकात की, उनकी समस्याएं सुनीं और पंजाब के बारे में पार्टी की योजनाओं से अवगत कराया।

केजरीवाल ने खरड़ के लोगों से आम आदमी पार्टी की उम्मीदवार अनमोल गगन मान का समर्थन करने की अपील की और कहा कि डोर-टू-डोर आप की पसंदीदा योजनाओं में से एक है। दल्लिी सरकार ने जनता की सुविधा के लिए डोर स्टेप डिलीवरी फॉर सर्विसेज योजना चलाई है, जिसके तहत सरकारी कर्मचारी लोगों के घर जाकर उनके काम करते हैं, ताकि लोगों को सरकारी दफ्तरों के चक्कर न काटने पड़े। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी आम लोगों की पार्टी है। हमारे विधायक और मंत्री साधारण परिवारों से होते हैं। इसलिए उन्हें आम लोगों के दुख-दर्द की पूरी समझ और जानकारी होती है।

From around the web