Mamta distances Partha Chatterjee पार्थ चटर्जी से ममता ने किया किनारा

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले में गिरफ्तार राज्य सरकार के मंत्री पार्थ चटर्जी से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनकी पार्टी ने किनारा कर लिया है। ममता बनर्जी ने कहा कि अगर पार्थ ने गलत काम किया है तो उनको सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर गलती की है तो वे कतई उनका साथ नहीं देंगी। ममता ने यहां तक कहा कि अगर पार्थ को उम्रकैद की सजा भी हो जाती है तो कोई फर्क नहीं पड़ता है।

ममता ने कहा- मैं भ्रष्‍टाचार या किसी भी तरह के गलत काम का समर्थन नहीं करती। अगर कोई दोषी पाया जाता है, तो उसे सजा दी जानी चाहिए, लेकिन मेरे खिलाफ चलाए जा रहे दुर्भावनापूर्ण अभियान की मैं निंदा करती हूं। उन्‍होंने कहा कि सच्चाई सामने आनी चाहिए, लेकिन एक समय सीमा के भीतर। ममता ने कहा- बीजेपी यदि यह सोच रही कि वह केंद्रीय एजेंसियों का उपयोग करके मेरी पार्टी को तोड़ सकती है तो वह गलत सोच रही, ऐसा नहीं होने वाला।

गौरतलब है कि पार्थ चटर्जी को प्रवर्तन निदेशालय, ईडी ने शनिवार को शिक्षक भर्ती घोटाले से जुड़े कथित धन शोधन मामले में गिरफ्तार किया था। पार्थ की करीबी सहयोगी अर्पिता के पास से 20 करोड़ रुपए से ज्यादा की नकदी बरामद होने के बाद यह गिरफ्तारी की गई थी। इस मामले में अर्पिता की भी गिरफ्तारी की गई है। गिरफ्तारी के बाद तबियत खराब होने पर पार्थ चटर्जी को एम्स भुवनेश्वर ले जाया गया।

इस पर ममता ने कहा- मुझे शर्म आती है, ओडिशा एम्स में ले गए, हमारे पास नंबर वन मेडिकल कॉलेज है, प्राइवेट में बहुत अच्छे अच्छे कॉलेज हैं, बंगाल में कुछ नहीं है क्या, आपकी नीयत क्या है, खूब बोलते हैं महाराष्ट्र करेंगे फिर झारखंड करेंगे, फिर छत्तीसगढ़ करेंगे फिर बंगाल करेंगे। ममता बनर्जी ने सोमवार को राज्य सरकार के एक पुरस्कार समारोह को संबोधित किया और अपनी सरकार के खिलाफ चलाए गए दुर्भावनापूर्ण अभियान के लिए भाजपा की आलोचना की।

उन्होंने कहा कि वे भ्रष्टाचार का समर्थन नहीं करती हैं। ममता ने कहा- हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। एक समय सीमा होनी चाहिए, जिसके भीतर सच और अदालत का फैसला सामने आना चाहिए। अगर कोई दोषी साबित होता है तो उसे सजा दी जानी चाहिए। पार्टी भी कार्रवाई करेगी। लेकिन, मैं अपने खिलाफ दुर्भावनापूर्ण अभियान की आलोचना करती हूं। इस बीच, भाजपा ने एक वीडियो साझा किया है, जिसमें ममता बनर्जी को अर्पिता मुखर्जी से बातचीत करते हुए देखा जा रहा है। इस पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस का उससे कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि वे उस औरत को नहीं जानती हैं।