मोहित ...आज तो फेसबुक ने बचा लिया ....रामु ...

 

दुकानदार - मेने आपको दुकान की एक एक चप्पल  दिखा दी , अब तो एक भी बाकि नहीं है। 

चिंकी - वो सामने  वाले डिब्ब्बे में क्या है ??

दुकानदार - बहन , रहम  कर थोड़ा  , उसमे  मेरा लंच है 

दुकानदार केसा सूट दिखाऊ ?

चीकू -  पड़ोसन  तड़प - तड़प  कर दम तोड़ दे ऐसा ...

मोहित - आज तो  फेसबुक  ने बचा लिया 

रामु - कैसे ??क्या हुआ ??

मोहित - आज बीवी का बर्थडे था 

छगन अपनी साँस  से - आपकी बेटी में कोई बात ढंग की नहीं है 

साँस - हां , बेटा मालूम है तभी  तो कोई ढंग का लड़क  नहीं मिला 

From around the web

>