Home Loan Transfer: EMI का कम करना चाहते हैं बोझ, जानिए कैसे होता है होम लोन ट्रांसफर

Home Loan Balance Transfer: अगर आपने भी लिया हुआ है होम लोन और आपको यह लग रहा है कि आप ज्यादा ईएमआई (EMI) चुका रहे हैं तो आप चाहे तो अपने होम लोन को ट्रांसफर (Home Loan Transfer) करने का विकल्प भी अपना सकते हैं। आप समझ लीजिए कि ब्याज की दरों में होने वाली छोटी सी कमी भी काफी ज्यादा फर्क ला सकती है। तो चलिए आज आपको हम बताते हैं होम लोन ट्रांसफर के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें–

क्या है होम लोन ट्रांसफर?

What is Home Loan Transfer?: होम लोन ट्रांसफर का अर्थ है कि जिस बैंक से लोन लिया गया है उसे किसी अन्य बैंक या वित्तीय संस्थान में ट्रांसफर किया जाना और फिर लोन धारक को ट्रांसफर किए गए बैंक या वित्तीय संस्थान को चुकानी होगी।

कब यूज कर सकते हैं होम लोन ट्रांसफर की सर्विस

When can you use home loan transfer service?: होम लोन ट्रांसफर सर्विस केवल EMI कम करने के लिए ही नहीं बल्कि रीपेमेंट के टर्म की शर्तो को रिवाइज करने, pre-approved offers के लिए, और ज्यादा अच्छी सर्विसेज और फैसिलिटी के लिए भी की जा सकती है।

होम लोन ट्रांसफर का क्या होता है प्रोसीजर?

Home loan transfer procedure?: लोन को एक बैंक से दूसरे बैंक में स्विच (Home Loan Bank Switch) कराने से पहले अच्छी तरह से दोनों बैंकों/वित्तीय संस्थानों की तुलना कर लेनी चाहिए. दोनो बैंको/वित्तीय संस्थानों की ब्याज की दरों और नए बैंक में ट्रांसफर करने वाले लोन का पूरा फीस स्ट्रक्चर देख लेना चाहिए.

● जो भी नया लेंडर हो उससे ब्याज की दरों के संबंध में मोलभाव जरूर कर लेना चाहिए.

● एक बात का ध्यान रखें अपने लेंडर से आप नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (एनओसी) जरूर ले ले और साथ ही अन्य महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट्स भी ले लें.

● अब आपको नए लेंडर के पास जाकर एनओसी के साथ साथ अन्य इंपोर्टेंट डॉक्यूमेंट्स के साथ आवेदन करना.

● पहले से ही चल रहा होम लोन बंद कर दें.

● अब जो नया होम लोन है उसे प्राप्त करने के लिए आवश्यक शुल्क जमा करें।

● इसके बाद से आपको नए बैंक के हिसाब से ब्याज दर देनी होगी।