WHO ने किया सावधान, ऐसे मास्क पहनना नहीं है किसी खतरे से खाली!

 

कोरोना इंफेक्शन से सुरक्षा के लिए मास्क पहनने और हाथ धोने को सबसे अहम सुरक्षा गाइडलाइन बताया जा रहा है। लोगों का सख्त हिदायतें दी गयी हैं कि घर के सुरक्षित माहौल से बाहर निकलने या किसी भी व्यक्ति के सम्पर्क में आने से पहले अपने नाक और मुंह को मास्क से ज़रूर ढंका जाए। इसी तरह अस्पताल, मार्केट या पब्लिक ट्रांसपोर्ट से यात्रा करते समय भी मास्क पहनना अनिवार्य है। लेकिन, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)  की मानें तो लोग सही तरीके से मास्क पहनना अभी भी नहीं सीख पाए हैं। इसीलिए, इन ग़लतियों को समझने और इनसे बचने की कोशिश करनी चाहिए...

- कई लोग मास्क को पहनते समय उसे ढीला-ढाला ही रखते हैं।  लेकिन, ऐसा करना सही नहीं है। जब भी मास्क पहने तो इस बात का ध्यान रखें कि मास्क आपके चेहरे से चिपका हुआ हो। इस तरह पहनने से मास्क के अगल-बगल या ऊपर-नीचे कहीं से गैप नहीं होगा। जिससे, हवा के माध्यम से संक्रमण वाले वायरस आपके नाक या मुंह में प्रवेश नहीं कर पाएंगे।

- यह एक ग़लती बहुत से लोग कर  रहे हैं, जो मास्क पहनते तो हैं लेकिन , मास्क से केवल अपना मुंह ढंकते हैं नाक नहीं। कुछ लोगों को मास्क पहनने का यही तरीका सही लगता है। जैसा कि हम नाक से ही सांस लेते हैं और कोरोना वायरस सबसे पहले श्वसन तंत्र पर ही हमला करते हैं। इसीलिए, मास्क पहनते समय नाक को ढंककर रखें।

- किसी को मिलते-जुलते समय कई लोग मास्क उतार देते हैं और काफी देर तक बातें करते रहते हैं। यह कोरोना संक्रमण फैलने का ख़तरा बढ़ा देता है। क्योंकि, बात करते समय मुंह और नाक खुली रहने से वायरस को शरीर में प्रवेश करने का मौका मिलता है।

- कई लोग मास्क पहनते तो हैं लेकिन, उससे ना तो अपनी नाक कवर करते हैं ना ही मुंह। बल्कि, इन लोगों का मास्क चेहरे के नीचे चिन के पास लटका रहता है।

From around the web

>