महिलाओ के ब्रेस्‍ट मिल्‍क को तुरंत बढ़ाता है ये आयुर्वेदिक नुस्‍खा

 
नवजात शिशु के लिए मां का दूध किसी अमृत से कम नहीं होता है। और यह दूध शिशु को कई बीमारियों से बचाता है। लेकिन आजकल गलत खानपान और बदलते परिवेश के कारण कई महिलाओं को डिलीवरी के बाद ब्रेस्‍ट से दूध कम या बिल्‍कुल नहीं निकलता है। ऐसा हार्मोंस की कमी, सही पोषक तत्वों की कमी, बीमारी या गर्भनिरोधक गोलियों के लम्बे समय तक सेवन के कारण होता है। जिसके चलते वह अपने बच्‍चे को ब्रेस्‍ट फीड नहीं करा पाती हैं और उनके नवजात में पोषक तत्‍वों की कमी हो जाती है।

अगर आप भी डिलीवरी के बाद अपने नवजात को कम मात्रा में दूध आने के अच्‍छे से ब्रेस्‍ट फीडिंग नहीं करा पा रही हैं तो परेशान न हो क्‍योंकि आज हम आपको एक ऐसा आयुर्वेदिक नुस्‍खा बताने जा रहे हैं जिसके सेवन से आप ब्रेस्‍ट मिल्‍क का उत्‍पादन बढ़ा सकती है।

जीरा ब्रेस्‍ट मिल्‍क के उत्पादन को बढ़ाने का काम करता है। इसके साथ यह पाचन तंत्र को सही कर कब्ज, एसिडिटी और सूजन को भी कम करता है। भारतीय व्यंजनों का अभिन्न अंग जीरा कैल्शियम और राइबोफ्लेविन (विटामिन-बी) का स्रोत है। इसके अलावा इसमें आयरन की भी भरपूर मात्रा होती है, जो नई मां को एनर्जी देने का काम भी करती है। साथ ही दूध में भी कैल्शियम और प्रोटीन की मात्रा ज्‍यादा होती है। जो दूध बढ़ाने में सहायक होती है। तो आइये जानते है इसको तैयार करने की विधि और इस्तेमाल करने का तरीका।

आवश्यक सामग्री - भुना जीरा- आधा चम्‍मच, दूध - 1 गिलास

बनाने की तरीका - सबसे पहले जीरा लेकर उसे अच्‍छी तरह भून लें। फिर दूध गर्म करके इसमें भूना जीरा मिला लें। इसे आपको सुबह और शाम को पीना है।

उपयोग करने का तरीका - एक कप पानी में एक चम्मच जीरा मिलाकर भिगोकर रख दें, एक घंटे बाद इसको छानकर पी ले, ऐसा करने से भी आपकी ब्रेस्‍ट में मिल्‍क की वृद्धि होगी। यह आयुर्वेदिक उपाय ब्रेस्‍ट मिल्‍क को अधिक मात्रा में बनाने में सहायक होता है। इस उपाय का सेवन नियमित रूप से करने से स्‍तनों में दूध बढ़ता है और बच्‍चे को अच्‍छा पोषण मिलता है। 

From around the web