डायबिटीज के रोगियों के लिए ये आसन किसी वरदान से कम नहीं

 

यह ऐसा योगासन है जिसे करते ही शरीर का आकार धनुष की तरह बन जाता है l इस आसन को करने से लीवर से संबंधित रोग और डायबिटीज के लिए बेहद ही फायदेमंद माना गया है l शुरुआती दौर में इस आसन को करना काफी मुश्किल है l लेकिन धीरे-धीरे अभ्यास करने के बाद यह आसन काफी आसान हो जाता है l

 आसन करने की विधि

1) धनुरासन करने के लिए सबसे पहले आप पेट के बल जमीन पर लेट जाएं l

2) फिर आप अपने घुटनों को मोड़कर पैरों को पीछे की ओर उठाएं l अपने शरीर को धनुष के आकार में बनाते हुए अपने हाथों से पैरों की एड़ियों को पकड़े l

3) फिर हल्के-हल्के अपने पैरों को और ऊपर उठाएं और लंबी सांस लेते हुए अपनी एड़ियों को अपनी तरफ खींचने की कोशिश करें l

4) जब आप अपनी एड़ियों को खींचे उस समय अपने पेट के संतुलन को बनाए रखें l सबसे विशेष ध्यान देने वाली बात यह है कि अपने सिर को बिल्कुल सीधा रखें l

5) जब भी आप यह आसन करें तो सांस लेने और छोड़ने की प्रक्रिया पर विशेष ध्यान दें l

6) जब भी आप सांस लें 1 से 20 सेकंड के बाद हल्के से छोड़े और आराम से फर्श पर लेटे रहे l इस प्रक्रिया को आप दोहराते रहे l

 धनुरासन के विशेष लाभ

धनुरासन करने से शरीर की हड्डियां काफी लचीली और मजबूत बन जाती हैं l

जो व्यक्ति प्रतिदिन धनुरासन करते हैं, ऐसे लोगों की पेट की चर्बी बहुत ही जल्दी घटना शुरू हो जाता है l

जो व्यक्ति धनुरासन करते हैं ऐसे लोगों का मन एकाग्र रहता है l

डायबिटीज के रोगियों के लिए धनुरासन वरदान के समान माना गया है l

जो व्यक्ति पथरी की समस्या से पीड़ित हैं, ऐसे लोगों को प्रतिदिन धनुराशन करना चाहिए l पथरी की समस्या से छुटकारा मिल सकता है l

यदि मानसिक और शारीरिक तनाव से मुक्ति पाना चाहते हैं. तो यह आसन प्रतिदिन करें l

जिन लोगों को जोड़ों के दर्द की शिकायत बनी रहती है l ऐसे लोगों के लिए भी बेहद ही फायदेमंद माना गया है यह आसन l

धनुरासन के दौरान बरतें यह सावधानी

जिन लोगों को कमर में दर्द की शिकायत रहती है, ऐसे लोगों को धनुरासन नहीं करना चाहिए l

हर्निया के रोगियों के लिए भी यह आसन हानिकारक है l

जिन लोगों को कोलाइटिस की समस्या है l ऐसे लोगों को भी नहीं करना चाहिए यह आसान l

उच्च रक्तचाप के रोगियों यह आसन करने से पहले डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए

From around the web

>