अरण्डी के तेल से हो सकती है ये समस्याएं

 

किसी भी चीज का उपयोग करने से यदि उसके फायदे मिलते हैं तो हमें उसके कुछ नुकसानों को भी झेलना पड़ता हैं। अक्सर किसी भी चीज का उपयोग सीमित मात्रा से ज्यादा कर लेने पर उससे नुकसान होना शुरू ही हो जाता है। 

जी मचलाना

शरीर में गैस संबंधी बीमारियों से लेकर कब्जियत को दूर करने के लिए अरंडी के तेल का उपयोग किया जाता है पर यदि इसका उपयोग गलत तरीके से और एक निश्चित अनुपात से ज्यादा किया जाए तो ये हमारे पाचन तंत्र के लिए काफी नुकसानदायक भी हो सकता है। 

डायरिया

गैस या कब्ज की समस्या में अरंडी के तेल का उपयोग किया जाता है लेकिन इसको अधिक मात्रा में लेने से आपको दस्त की समस्या हो सकती है। इसलिए इसका सेवन करते समय एक नियमित खुराक लेने की सलाह दी जाती है।

शरीर में रेशेज का होना

त्वचा में जलन और एक्जिमा जैसी समस्या से छुटकारा पाने के लिए अरंडी के तेल का उपयोग किया जाता है पर कभी-कभी यह आपकी त्वचा के लिए हानिकारक भी हो सकता है, इसलिए इसका उपयोग करते समय पहले इसकी जांच अवश्य कर लें कि ये आपकी त्वचा के लिए सही हैं या नहीं ।

खुजली

अरंडी के तेल का उपयोग यदि एक सीमित मात्रा में किया जाए, तो यह आपकी त्वचा के लिए बेहतर परिणाम देता है। यदि इसका उपयोग ज्यादा मात्रा में किया जाए, तो इससे त्वचा पर खुजली जलन के साथ लाल-लाल दाने निलकना शुरू हो जाते है। 

मांसपेशियों में ऐठन

मांसपेशियों में ऐठन का होना अरंडी के तेल के आम दुष्प्रभावों में से एक हैं। यदि आपको भी अरंडी के तेल से शरीर की मालिश करने पर ऐसे कुछ लक्षण दिखाई दे रहें हैं तो आप अरंडी के तेल का उपयोग करना बंद कर दें।

सूजन

अरंडी के तेल का उपयोग वैसे तो त्वचा के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है पर यदि किसी कारणवश इसका उपयोग करने से आपके होठों, आंखों या जीभ में सूजन आने लगे तो इसका उपयोग करना तुरंत बंद कर दें और अपने चिकित्सक से परामर्श लें।

चक्कर आना

अरंडी के तेल का बहुत अधिक उपयोग करने पर यदि आपको चक्कर आ रहें हों तो यह इससे होने वाली एलर्जी के लक्षण है। इसके लिए आपको तुरंत एंटी-एलर्जिक दवा ले लेनी चाहिए जो इसके दुष्प्रभावों के कम करने में मदद करती है।

सांस की समस्या

अरंडी के तेल का उपयोग करने से यदि आपको सासं लेने में समस्या हो रही है तो यह भी इसके दुष्प्रभावों में से एक है। अरंडी के तेल का उपयोग करने से सांस की तकलीफ के साथ सीने की धड़कन तेज हो रही हो तो इसका उपयोग करना बंद कर दें और तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें।

From around the web

>