बरसात में फंगल इंफेक्शन से रहें सुरक्षित, जानिए कपड़ों को धोने और जल्दी सुखाने का सही तरीका

 
बारिश के दिनों में कपड़ों को जल्दी सुखाना सिरदर्द बन जाता है। कई बार हम गीले कपड़े ही पहन लेते हैं। इस कारण हमें मानसून के दौरान शरीर के अंदरूनी हिस्सों में संक्रमण हो जाता है। इससे बचने के लिए आपको बरसात के मौसम में कपड़ों को सही तरीके धोने से लेकर सुखाने तक की जानकारी होनी चाहिए। इसके बाद आप इस मौसम में खुद को स्वस्थ रख सकेंगे।

अगर आप सोच रहे हैं कि बारिश में रेनकोट, बरसाती चप्पल/जूते आदि से काम चल जाएगा तो ऐसा नहीं है। रेनकोट से भले ही आप खुद को भीगने से बचा लें, लेकिन कपड़े तो धोने ही पड़ेंगे। ऐसे में आपको मानसून के दौरान कपड़े को धोने और सुखाने का शॉर्टकट तरीका जानना ही पड़ेगा। इन बातों को नजरअंदाज करने वालों को संक्रमण का खतरा ज्यादा रहता है।

जैसे कि हम गर्मी में थोड़े गीले कपड़ों को पहन लेते हैं, क्योंकि वातावरण में नमी नहीं रहती इसलिए वे बदन पर सूख जाते हैं। मगर बारिश के दिनों में ऐसा नहीं होता, इसलिए हमें कपड़ों को अच्छी तरह सुखाने के बाद पहनना चाहिए। बरसात में भीगने के बाद कपड़ों को एक बार और अच्छी तरह साफ पानी में साफ कर लें। इसके बाद उनको अच्छी तरह निचोड़ लें। अब आप इनको कमरे में या बालकनी में सुखाने के लिए डाल दें।

फिर भी बरसात में कपड़े अच्छी तरह सूख नहीं पाते, इसलिए आप उन कपड़ों को 3-4 घंटे के लिए पंखे की हवा से सुखाने के बाद आयरन/प्रेस जरूर करें। क्योंकि इसके बाद कपड़े अच्छी तरह सूख जाएंगे और नमी के कारण फैलने वाले संक्रमण को रोकने का काम करेंगे।

कपड़े धोने के तुरंत बाद इसे कमरे में सूखने के लिए न टांगें। ऐसा करने से कपड़ों से बदबू आ सकती है। कपड़ों को जल्दी सुखाने के लिए उनको रस्सी में टांगने की बजाए हैंगर से लटकाएं। हैंगर में टांगने से कपड़ों को हवा मिलती रहेगी और सीलन भी नहीं पड़ेगी।

इस मौसम में पैंट, शर्ट से ज्यादा ख्याल आपको अंडर गारमेंट्स का रखना होगा। आप भूलकर भी गीले अंडर गारमेंट्स ना पहनें। बरसात के मौसम के लिए अधिक से अधिक संख्या में अंडरवियर और वेस्ट रखें।

From around the web

>