गुणों की खान है मटर के छोटे छोटे दाने, कैंसर जैसी बीमारी भी रहती है दूर

 
सर्दी के मौसम में मटर सब्जियों के अलावा पुलाव, पोहा, पराठे, पूड़ियां यानि लगभग हर खाने में प्रयोग की जाती है। मटर काफी पौष्टिक होते हैं क्योंकि इसमें फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार  मटर में ह्रदय रोग और कैंसर जैसी कई गंभीर बीमारियों से लड़ने की ताकत है। ये हैं मटर के छोटे- छोटे दानों के बड़े-बड़े फायदे, जिन्हें जानकर आप हैरान रह जाएंगे। हरे मटर में कैलोरी की मात्रा कम होती है, जबकि स्वाद में इसका कोई जवाब नहीं। 100 ग्राम मटर में सिर्फ 35 कैलोरी होती है। इसलिए हरे मटर से आपकी भूख भी शांत होगी और वजन भी कंट्रोल में रहेगा। तो आइये जानते है इसके फायदों के बारे में.... 

उम्र में बदलाव के लिए - हरे मटर में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है इसलिए ये एनर्जी भी खूब देती है। मटर बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करती है इसलिए रोज़ाना हरे मटर के प्रयोग से आप उम्र से जवान नज़र आते हैं।

स्मरण शक्ति तेज करने में - एक शोध के मुताबिक हरे मटर से आपकी याददाश्त भी बेहतर होती है और ये कई तरह की दिमागी कमजोरियों में भी फायदेमंद है।

मोटापा कम करने में - मटर से आपके शरीर का कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है इसलिए इससे धीरे-धीरे मोटापा घटता है।

डायबिटीज को कम करने में - मटर में मैग्नीशियम, पोटैशियम और कैल्शियम जैसे मिनरल्स पाये जाते हैं। ये आपके ब्लड शुगर को भी कम करते हैं इसलिए इसके प्रयोग से हृदय रोगों में भी फायदा मिलता है। ये टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है।

मसल्स बनाने में - मटर में प्रोटीन की काफी मात्रा होती है इसलिए ये हड्डियों को मजबूत बनाती है और इससे आपके मसल भी स्ट्रांग होते हैं।

प्रेग्नेंसी में - प्रेगनेंसी के दौरान भी हरी मटर का प्रयोग काफी फायदेमंद होता है। मां के साथ-साथ ये गर्भ में भ्रूण को भी पोषण देते हैं।

कैंसर के खतरे को कम करने में - मटर में उपलब्ध एंटीऑक्सिडेंट्स और विटामिन K की वजह से इसके लगातार प्रयोग से कैंसर का खतरा कम होता है।

From around the web