प्रेगनेंसी में जमकर सुनें म्यूज़िक, बच्चे के तेज़ विकास के साथ मिलते हैं कई अन्य फायदे

 
संगीत यानि म्यूज़िक सभी को आनंदित कर देता है। संगीत सुनने लोगों का मूड अच्छा होता है, खुशी मिलती है और तनाव भी कम होता है। पर क्या आप जानते हैं कि गर्भ में पल रहे अनबॉर्न बच्चे भी संगीत सुन सकते हैं और एन्जॉय कर सकते हैं।  जी हां, यूनिसेफ.ऑर्ग के अनुसार संगीत गर्भ में पल रहे बच्चे पर बहुत अच्छा असर डाल सकता है। प्रेगनेंसी के 18वें सप्ताह के बाद से ही बच्चें को संगीत सुनायी पड़ने लगता है। भले ही बच्चा अभी गर्भ में ही है लेकिन, इस फेज़ में बच्चा संगीत सुनने लगता है। यही नहीं एक्सपर्ट्स के अनुसार उसे यह संगीत जन्म के बाद भी याद रहता है। आइए जानते हैं गर्भावस्था में संगीत सुनने के फायदों के बारे में....

- हाल ही में कुछ स्टडीज़ में दावा किया गया कि गर्भावस्था में संगीत सुनने से बच्चे का दिमाग बेहतर तरीके से विकसित होता है। इन स्टडीज़ के अनुसार, संगीत सुनने से बच्चे का दिमाग उत्तेजित होता है और ब्रेन स्ट्रक्चर विकसित होता है।
 


- एक्सपर्ट्स के अनुसार, प्रेगनेंसी में म्यूज़िक सुनने से प्रेगनेंट महिला को स्ट्रेस से राहत मिलती है। म्यूज़िक से मां बनने वाली महिला में एंग्जायटी, घबराहट और स्ट्रेस जैसी भावनाएं कम होती हैं। जिससे, बच्चा भी स्वस्थ रहता है और मां के लिए भी प्रेगनेंसी कम तकलीफभरी मालूम होती है।

- जैसा कि प्रेगनेंसी के दौरान हार्मोन्स में बदलाव के कारण महिलाएं अक्सर बहुत अधिक इमोशनल होने लगती हैं। ऐसे में संगीत सुनने से वे इमोशनली हेल्दी और स्टॉन्ग महसूस करती हैं।
 


- स्ट्रेस के कारण प्रेगनेंसी में महिलाओं का ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। लेकिन, संगीत सुनने से इसे कंट्रोल करने में मदद होती है। जैसा कि ब्लड प्रेशर दिल के लिए नुकसानदायक है। इसीलिए, संगीत सुनने से गर्भवती महिला के लिए दिल की बीमारियों का ख़तरा भी कम होता है।

- इसके साथ ही म्यूजिक सुनने से प्रेगनेंट महिला अधिक खुशहाल भी महसूस करती है। जिससे, बच्चे पर भी सकारात्मक असर पड़ता है। इसी तरह म्यूज़िक सुनना मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद साबित होता है।

From around the web

>