आज ही छोड़ दें वो 5 बुरी आदतें जिनकी वजह से होती हैं ज्यादातर बीमारियां

 

समय के साथ इंसान अपनी लाइफस्टाइल को भी बदलता जा रहा है, लेकिन इसके साथ ही लोग कई तरह की बुरी आदतों को भी पाल लेते हैं, जो उनकी सेहत के लिए हानिकारक साबित होते हैं। जाने अनजाने में हुई इन गलतियों की वजह से कई बार लोगों को बाद में पछताना भी पड़ता है, क्योंकि ये कई तरह की बीमारियों का कारण भी बन जाती हैं। इसलिए बेहतर है कि समय रहते कुछ आदतों को सुधार लें, जो आपकी सेहत के लिए फायदेमंद ही साबित होंगे। आइए जानते हैं उन पांच बुरी आदतों के बारे में, जिनकी वजह से कई तरह की बीमारियां शरीर को जकड़ सकती हैं और बाद में पछताना पड़ सकता है।

1. अल्कोहल न सिर्फ शारीरिक बल्कि मानसिक स्थिति पर भी बुरा असर डालता है। शराब का सेवन सेहत के लिए हानिकारक ही होता है। इससे न सिर्फ लिवर खराब करती है, बल्कि ये हृदय रोग, डिप्रेशन और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों का कारण भी बन सकता है।

2. स्मोकिंग यानी धूम्रपान सेहत के लिए हानिकारक होता है। यह कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, 80-90 फीसदी लोगों को फेफड़ों का कैंसर धूम्रपान की वजह से ही होता है। इसलिए बेहतर है कि सिगरेट या बीड़ी समय रहते छोड़ दें, नहीं तो ये आपके लिए जानलेवा साबित हो सकता है।

3. अक्सर लोग किसी भी तरह का दर्द होने पर तुरंत पेन किलर्स ले लेते हैं, जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए। पेन किलर्स यानी दर्द की दवाई का इस्तेमाल बहुत कम ही करना चाहिए। लंबे समय तक इनका इस्तेमाल सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। लगातार पेन किलर्स लेने से हाई ब्लड प्रेशर (उच्च रक्तचाप) और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

4. कई लोगों की आदत होती है कि वो देर रात तक जगते हैं और फिर पूरी नींद भी नहीं ले पाते हैं। ऐसे लोगों को अपनी आदतों में सुधार करने की जरूरत है, क्योंकि अपर्याप्त नींद लेने से सेहत पर असर पड़ता है। इंसान के व्यवहार में चिड़चिड़ापन आने लगता है, साथ ही डिप्रेशन की समस्या भी बढ़ जाती है। यह हाई ब्लड प्रेशर की समस्या भी पैदा कर सकता है। इसलिए बेहतर है कि सोने का समय फिक्स कर लें और कम से कम आठ घंटे की नींद जरूर लें।

5. कई लोगों की ये आदत होती है कि वो कोई काम करते-करते पानी पीना ही भूल जाते हैं या कम पीते हैं, लेकिन शायद आपको ये पता नहीं है कि पानी की कमी का बुरा असर आपके शरीर पर पड़ सकता है। पानी कम पीने से शरीर से विषैले पदार्थ पूरी तरह से बाहर नहीं निकल पाते हैं, जिसका प्रभाव आपकी किडनी और रोग प्रतिरोधक क्षमता पर पड़ सकता है। 
 

From around the web

>