जानिए पुश अप करने का सही तरीका

 

अगर किसी को पहले से ही कंधे में दर्द हो या रोटेटर कफ या बाईसेप टेंडन सर्जरी हुई हो, तो उसे भी पुश अप्स नहीं करने चाहिए। ऐसा करना उसके कंधे की इस समस्या को बढ़ा सकता है।

पुश अप्स करने के लिए आपके शरीर का ऊपरी हिस्सा और कोर मजबूत होने चाहिए। अगर आपने अभी-अभी व्यायाम करना शुरू किया है, तो आपके लिए पुश अप्स करना थोड़ा मुश्किल और हानिकारक हो सकता है।

पुश अप्स के लिए सबसे पहले आपको अपने मसल्स को मजबूत करना होगा, ताकि आप बिना किसी नुकसान के इस एक्सरसाइज को कर सकें। इसलिए आपको शुरुआत में डंबल चेस्ट प्रेस प्लैंक और ट्राइसेप्स एक्सटेंशंस आदि करने चाहिए।

पुश अप को वजन कम करने का रोजाना का व्यायाम माना जाता है, लेकिन यदि आपका वजन अधिक है तो पुश अप न करें। अगर आप ऐसा करते हैं, तो आपकी कलाइयों में दर्द हो सकता है, क्योंकि पुश अप्स करने से आपके शरीर का पूरा भार आपकी कलाइयों पर पड़ता है। पुश अप करने से पहले अपने वजन को कम करें।
जिन लोगों को कोहनी, कलाई और कंधे के जोड़ों की समस्या है, उन्हें पुश अप्स नहीं करने चाहिए।

अगर आप ऑस्टिओअर्थराइटिस से पीड़ित हैं, तो पुश अप्स करना दुखदायी हो सकता है। इन मामलों में तब तक पुश अप्स न करें, जब तक आपको डॉक्टर सलाह न दे। जोड़ों की यह समस्या जोड़ों से संबंधित अधिक एक्सरसाइज करने, कमजोर एक्सरसाइज तकनीक या किसी दुर्घटना के कारण हो सकती है।

From around the web