अगर आप भी खाते हैं यह फल तो यह खबर आपके लिए है

 
ह‍म आपको डराना नहीं चाहते, लेकिन केला और पपीता खाते हैं तो शायद आप अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। क्योंकि आप जिन फलों को सेहत के लिए खा रहे हैं, केमिकल से पके होने के कारण वो आपका सेहत बिगाड़ भी सकते हैं।

फलों को पकाने के लिए कैल्शियम कार्बाइड, कार्बेट और एथिलीन जैसे केमिकल्स का यूज होता है। इथिफोन के घोल में केले डालने से उसके पोर खुल जाते हैं और पकना आसान हो जाता है। लेकिन पोर खुलने से केमिकल उसके अंदर चला जाता है। कैल्शियम कार्बाइड व कार्बेट से पपीते व आम को गर्मी मिलती है। इसलिए ये फल जल्दी पकते हैं और रंग भी पीला हो जाता है। ऐसे फलों में मूल स्वाद और गुणवत्ता का अभाव रहता है।

कैल्शियम कार्बाइड, इथिफोन व इससे मिलते-जुलते केमिकल शरीर के लिए बेहद खतरनाक हैं। इथिफोन से निकलने वाली गैस से आंखों व त्वचा पर जलन, सांस लेने में कठिनाई और चक्कर आने जैसी शिकायतें हो सकती हैं।

From around the web

>