अगर आप भी पीते है "कोल्ड ड्रिक्स" तो जरूर पढें यह खबर

 
अमेरिका की एक यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने रिसर्च में पाया है की सॉफ्ट ड्रिंक की लत से बने डायबिटीज के मरीजों में से डेढ़ लाख लोगों की मौत हर साल हो जाती है। और यह आकड़ा दिन- प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। इसी तरह सॉफ्ट ड्रिंक ही एक वज़ह जिससे लगभग 45 हजार हार्ट पैशेंट्स और कैंसर से 6,500 लोग मौत का शिकार बनते हैं। ये शोध टफ्ट्स यूनिवर्सिटी ने किया है शोध में बताया गया है कि हर साल लगभग दो लाख लोग सिर्फ 1.84 लाख सॉफ्ट ड्रिंक की लत पड़ जाने से अपना जीवन खो देते हैं।

कुछ मामलों में तो सॉफ्ट ड्रिक्स 'एल्कोहल' से ज्यादा खतरनाक साबित हुआ है। टफ्ट्स यूनिवर्सिटी के इस शोद को इंडियन मेडिकल काउंसिल की रिपोर्ट भी मुहर लगा रही है। फ्ट्स यूनिवर्सिटी के इस शोद की रिपोर्ट के मुताबिक इस समय भारत में लगभग 7.7 करोड़ भारतीय डायबिटीज के गंभीर रोगी हैं। इंटरनेशनल डायबिटीज फेडरेशन के मुताबिक भारत में हर साल 10 लाख लोगों की मौत डायबिटीज की वजह से होती है।

ब्लड शुगर बढ़ने से हार्ट अटैक या किडनी खराब होने से मरीज की मौत हो जाती है। सॉफ्ट ड्रिंक्स पीने से होने वाले शारीरिक नुकसान पर भारत और विदेश में अब तक जो भी शोध हुए हैं उन सब मेंं एक निष्कर्ष यह भी निकला है कि सॉफ्ट ड्रिक्स पुरुषों से ज्यादा महिलाओँ को नुकासन पहुंचाता है।
इसलिए डायबिटीज के पेसेंट्स डॉक्टर की सलाह लेकर ही सॉफ्ट ड्रिक्स का प्रयोग करे। 

From around the web

>