बुखार हो या जुकाम, ये उपाय कर देगा सफाया, जल्दी जानिए

 

आज हम आपको स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों के लिए एक जड़ी-बूटी के बारे में बताने वाले हैं, इस जड़ी-बूटी का नाम है यारो। यारो का इस्तेमाल आज से कई हजारों साल पहले स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं जैसे, गेस्ट्रोइंटेसटिनल आदि के लिए किया जाता था। इसका इस्तेमाल बुखार और जुकाम जैसी समस्याओं के लिए भी किया जाता था। आईए जानते हैं इस जड़ी-बूटी यारो के बारे में।

जुकाम और बुखार में ऐसे करें यारो का इस्तेमाल

यारो के सेवन से हमें पसीना आता है जिस कारण हमारे शरीर के रोम छिद्र खुल जाते हैं और ये ठीक से सांस ले पाते हैं। ऐसा होने पर रक्त ठीक तरीके से परिंसचरण कर पाता है। बुखार व जुकाम आदि की समस्या होने पर पिपरमिंट, एल्डरफ्लोवेर और यारो को मिलाकर इसकी चाय का सेवन करने से काफी लाभ होता है।

बहते हुए खून या घाव को भरने में भी मददगार

यारो काफी मशहूर जड़ी-बूटी है और इसका इस्तेमाल सदियों से होता चला आ रहा है। यारो की खोज सबसे पहले इराक में हुई थी। इसके बाद इसके गुणों को जानने के बाद इसे कारगर जड़ी-बूटियों में शामिल कर लिया गया। यारो घाव को या बहते हुए खून को रोकने के लिए कमाल का इलाज है। इससे शरीर के अंग में दर्द हो तो भी इसे इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे दर्द में भी कमी आती है।

From around the web