क्या आपको पता है आपकी खड़े होकर खाना खाने की आदत आपको मुसीबत में डाल सकती है!

 

आजकल के बिजी लाइफ में अक्सर लोग चलते-चलते या खड़े होकर खाना खा लेते हैं। वहीं शादी-पार्टी में भी खड़े होकर खाना खाने का नियम है। मगर क्या आपको पता है आपकी ये आदत आपको मुसीबत में डाल सकती है। दरअसल इससे मोटापा और गठिया समेत कई बीमारियां हो सकती है।

1. खड़े होकर खाना खाने से सबसे ज्यादा नुकसान हमारे पाचन तंत्र को पड़ता है। क्योंकि ऐसी अवस्था में खाना खाने से लोग जल्दी-जल्दी खाते हैं। जिसके चलते खाना सीधे पेट तक पहुंच जाता है और खाना सही से पच नहीं पाता है।

2. खाने के ठीक से डाइजेस्ट न होने पर पेट में गैस बनने लगती है। इससे पेट फूलना, बदहजमी और कब्ज की भी शिकायत हो जाती है।

3. खड़े होकर खाना खाने से हमारी ग्रास नली भी काफी प्रभावित होती है। क्योंकि ऐसे खाना खाने से गले से लेकर पेट तक खाना पहुंचाने वाली नली ब्लॉक हो जाती है। एक साथ काफी मात्रा में खाना आने से एसोफेगस नली के निचले हिस्से पर बुरा असर पड़ता है।

4. एसोफेगस नली ही गले से पेट तक खाना पहुंचाने का काम करती है, लेकिन इसके क्षतिग्रस्त होने से खाना पेट तक सही से नहीं पहुंच पाता है। ऐसे में खाना सड़ने लगता है और गैस बनाने लगता है।

5. खड़े होकर खाना खाने से पेट फूलता है और ठीक से इसके डाइजेस्ट न होने पर बॉडी में फैट जमने लगता है। जो धीरे-धीरे मोटापे का कारण बन जाता है।

6. खड़े होकर खाना खाने से हमारे पेट की आंते भी सिकुड़ जाती है, जिससे अपच की शिकायत होती है।

7. इस तरह से भोजन करने पर पैरों और कमर पर भी जोर पड़ता है। जिसके चलते गठिया एवं जोड़ों के दर्द का खतरा रहता है।

8. जो लोग खड़े होकर खाना खाते हैं उनमें मोटापा बढ़ने का एक कारण ये भी है कि वो जल्दबाजी में ज्यादा खाना खा लेते हैं। ऐसी अवस्था में व्यक्ति को ज्यादा भूख लगती है।

9. इस तरह से खाना खाने पर शरीर को पूरे न्यूट्रिशन्स नहीं मिल पाते हैं। क्योंकि खाना पेट तक सही से न पहुंचने पर शरीर भोजन के पोषक तत्व पूरी से नहीं निकाल पाती है।

10. जो लोग खड़े होकर खाना खाते हैं उनमें चिड़चिड़ापन ज्यादा रहता है। क्योंकि ऐसे भोजन करने से व्यक्ति के बॉडी और मस्तिष्क का बैलेंस ठीक से नहीं बन पाता है। जिससे व्यक्ति को गुस्सा आता रहता है।

From around the web

>