नाभि खिसकने या धरण होने पर करें ये आसान उपाय, जल्दी मिलेगा फायदा

 
नाभि खिसकना आम बात है। अधिकतर मामलों में नाभि नीचे और ऊपर की तरफ चली जाती है। जिन लोगों को अक्सर भारी वजन उठाने की आदत होती है और अचानक झुकने की आदत होती है उन लोगों को नाभि खिसकने की समस्या आती है। बहुत सारी महिलाएं ऐसी हैं जो नाभि खिसकने के कारण माहवारी के समय दर्द का सामना करती है।

नाभि खिसकने के लक्षण:

नाभि जब खिसक जाती है, तब पेट में काफी दर्द होने लगता है ।कुछ लोग ऐसे होते हैं जो सोचते हैं कि पेट में अगर दर्द हो रहा है तो इसका नाभि से कोई संबंध नहीं है।

जिन लोगों को ऐसा लगता है कि हमें पेट में काफी दर्द हो रहा है उन लोगों ने तुरंत इस बात को नजरअंदाज ना करते हुए अपने डॉक्टर की राय लेना चाहिए।
 


नाभि खिसकने पर पेशाब करते समय भी परेशानी हो सकती है, इसलिए ऐसे वक्त शरीर के छोटे-छोटे लक्षणों को जानकर परीक्षण करें।

नाभि खिसकने पर ज्यादा भावनात्मक रूप से तनाव ना ले जल्द से जल्द इस समस्या को हल करने की कोशिश करें जो आपके लिए अच्छा रहेगा।

नाभि खिसकने का उपचार कैसे करें ?

नाभि जब खिसक जाती है तब शरीर की सारी गतिविधियां संतुलित रखने की कोशिश करें। जब शरीर की सारी गतिविधियां गलत तरीके से काम करती है तब अपने आपको संतुलित रखें।

नाभि खिसकने पर नाभि के द्वार पर हल्के हाथों से मालिश करना चाहिए, मालिश करने से या मसाज करने से नाभि पर जो भी ब्लड सरकुलेशन होता है वह पूरी तरह से संतुलित हो जाता है।
 


नाभि की मालिश करते समय पैरों पर भी मालिश करें, जिससे शरीर को एक्यूप्रेशर ट्रीटमेंट मिलेगी और नाभि पहले जैसी होने में मदद होगी।

नाभि खिसकने के घरेलू उपाय इस्तेमाल करते समय मोमबत्ती का प्रयोग करना काफी असरदार हो सकता है।|सबसे पहले यह क्रिया करते समय किसी एक्सपर्ट की सलाह ले।

From around the web

>