Hardik Pandya की कप्तानी के मुरीद हुए यश दयाल

भारतीय टीम के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) पिछले कुछ महीनों पहले टीम इंडिया में अपनी जगह बनाने को लेकर अकसर सवालों के घेरे में नजर आ रहे थे। लेकिन वो कहते है न किस्मत बदलने में ज्यादा वक्त नहीं लगता है। ठीक ऐसा ही हार्दिक पांड्या ने कर दिखाया है। जहां आईपीएल 2022 में गुजरात टाइटंस की बेहतर कप्तानी कर टीम को ट्रॉफी दिलाई।

तो वहीं ये हरफनमौला खिलाड़ी अब भारत की कप्तानी करते हुए दिखाई देगा। दरअसल आयरलैंड दौरे के लिए टीम की कमान हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) को सौंपी गई है। इस फैसले से सभी फैंस काफी खुश नजर आ रहे है। तो वहीं हाल ही में गुजरात टीम के युवा खिलाड़ी ने भी हार्दिक की कप्तानी की जमकर तारीफ की है। और उनकी कप्तानी की खूबियां भी गिनाई है।

Hardik Pandya की कप्तानी के मुरीद हुए यश दयाल

Hardik Pandya की कप्तानी के मुरीद हुए यश दयाल
Hardik Pandya की कप्तानी के मुरीद हुए यश दयाल

दरअसल इस समय टीम इंडिया और साउथ अफ्रीका के बीच पांच मैचों की टी20 सीरीज खेली जा रही है। इस सीरीज के बाद भारत को आयरलैंड के खिलाफ दो मैचों की टी-20 सीरीज खेलनी है। जिसके लिए टीम इंडिया की कप्तानी हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) को सौंपी गई है। बता दें आईपीएल 2022 में गुजरात टाइटंस की कप्तानी करते हुए हार्दिक पांड्या ने अपनी टीम को ट्रॉफी जिताई, जिसे बाद उन्हें कप्तान बनने के लायक समझा गया है।

बता दें बीते 7 महीनों में इस खिलाड़ी ने ना सिर्फ अपनी फिटनेस पर काम बल्कि अपनी कप्तानी का टेलेंट भी दुनिया को दिखाया। हार्दिक पांड्या की कप्तानी का हुनर इससे पहले दुनिया के सामने नहीं आया था। वहीं हाल ही में उनकी टीम गुजरात टाइटंस के युवा तेज गेंदबाज यश दयाल ने अपने कप्तान की जमकर तारीफ की है और उनकी कप्तानी की खूबियां भी गिनवाई है।

यश दयाल ने हार्दिक की कप्तानी की जमकर की तारीफ

'बहुत शांत और आत्मविश्वासी हैं...' Hardik Pandya की कप्तानी का फैन हुआ ये युवा खिलाड़ी

वहीं ईएसपीएनक्रिकइन्फो से बात करते हुए यश दयाल (Yash Dayal) ने कहा कि Hardik Pandya काफी शांत और आत्मविश्वासी खिलाड़ी है। उन्होंने साथ ही कहा, “हार्दिक पंड्या बहुत शांत और आत्मविश्वासी हैं, और उन्हें पता है कि किस समय क्या फैसला लेना है।”

उन्होंने आगे कहा “वह एक गेंदबाज का कप्तान हैं। अगर आपको खुद पर भरोसा है, तो वह आपको अपने फैसले खुद लेने देते हैं। इससे एक गेंदबाज का आत्मविश्वास बढ़ता है। मैं कहूंगा कि वह सबसे अच्छा कप्तान है जिसके अंडर मैंने खेला है।”