DHFL Bank Fraud Case: 34,615 करोड़ का बैंकिंग फ्रॉड आया सामने, CBI ने दर्ज किया केस

0
15

DHFL Bank Scam News In Hindi, Bank Ghotala News: एक बार फिर देश में बड़ा बैंक घोटाला (Bank Scam) सामने आया है। जानकारी के मुताबिक इस बैंक स्कैम में 17 बैंकों को करीब 34,615 करोड़ रुपये का चूना लगाया गया है।

बता दें कि इस बैंक धोखाधड़ी के आरोप में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (DHFL) के पूर्व चेयरमैन कपिल वधावन, डायरेक्टर धीरज वधावन और रियल्टी क्षेत्र की छह कंपनियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

वधावन बंदु समेत इन सभी पर यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (Union Bank Of India) के नेतृत्व वाले 17 बैंकों के समूह से 34,615 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप है। दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (DHFL) के डायरेक्टर्स कथित भ्रष्टाचार के मामले में फिलहाल सीबीआई जांच के घेरे में हैं। 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पता चला है कि सीबीआई के 50 से अधिक अधिकारियों की एक टीम आरोपियों के मुबंई स्थित 12 ठिकानों की तलाशी ले रही है। 

DHFL Bank Scam: क्या है मामला

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने आरोप लगाया है कि दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (DHFL) ने 2010 से 2018 के बीच विभिन्न व्यवस्थाओं के तहत बैंकों के समूह से 42,871 करोड़ रुपये लोन  के रूप में लिए थे। लेकिन मई, 2019 से कंपनी ने लोन रीपेमेंट में  कघपला करना  शुरू कर दिया। लोन देने वाले बैंकों ने कंपनी के खातों को अलग-अलग समय पर NPA घोषित कर दिया।

बताया जा रहा है कि लोन देने वाले बैंको की समिति ने प्रमुख वित्तीय और व्यावसायिक सलाहकार KPMG कंपनी को एक अप्रैल, 2015 से 31 दिसंबर, 2018 तक दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (DHFL)  की विशेष समीक्षा ऑडिट करने के लिए नियुक्त किया

KPMG द्वारा समिट की गई ऑडिट रिपोर्ट में सामने आया कि डीएचएफएल प्रमोटर्स के साथ समानता रखने वाली 66 संस्थाओं को 29,100.33 करोड़ रुपये दिए गए हैं। इनमें से 29,849 करोड़ रुपये बकाया हैं। यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया ने आरोप लगाया है कि बैंक से लिए गए पैसे को संस्थाओं और व्यक्तियों भूमि और संपत्तियों में निवेश किया है।