Chief Minister Hemant soren मुख्यमंत्री ने अपने से संबंध मंत्रालय का

रांची। झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र (Jharkhand asseimbly Mansoon session) 29 जुलाई से शुरू हो रहा है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने मानसूनत्र के दौरान अपने विभागों से संबंधित प्रश्न, ध्यानकर्षण, निवेदन, याचिका, विधेयक और संकल्प आदि सभी प्रकार की विधायी सूचनाओं के उत्तर देने हेतु निम्न मंत्रियों को जिम्मेदारी सौंपी है। इस संबंध राज्यपाल की ओर से अधिसूचना जारी कर दी गई है।

राज्य सरकार में मंत्री आलमगिर आलम (Alamgiri Alam) जिनके पास संसदीय कार्य मंत्रालय का दायित्व हैं उन्हें गृह, करा एवं आपदा प्रबंधन विभाग (आपदा प्रबंधन रहित) मंत्रिमंडल (निर्वाचन) विभाग / कार्मिक, प्रशासन सुधार तथा राजभाषा विभाग/ मंत्रिमंडल सचिवालय एवं निगरानी विभाग (संसदीय कार्य रहित) विधि विभाग से संबंधित विषय भी देखेंगे। परिवहन मंत्री चम्पाई सोरेन को वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग का दायित्व सौंपा गया है।

महिला बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग की मंत्री जोबा मांझी (Joba Manjhi) को राजस्व, निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग (निबंधन को छोड़कर) सूचना प्रौद्योगिकी एवं ई-गवर्नेंस विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

राज्य के कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग के मंत्री बादल अब अपने विभाग के अलावा खान एवं भूतत्व विभाग, निर्माण विभाग, भवन निर्माण विभाग से संबंधित जानकारी के लिए विधानसभा में उत्तरदायी होंगे। सरकार में मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर (Mithlesh Kumar Thakur) अपने विभाग के अलावा जल संसाधन विभाग, उच्च एवं तनकीकी शिक्षा विभाग, उद्योग विभाग, सूचना एवं जन-संपर्क विभाग से संबंधित विषय पर विधानसभा को अवगत कराएंगे। वहीं सोरेने सरकार में मंत्री सत्यानंद भोक्ता नगर विकास एवं आवास विभाग से संबंधित विषय पर विधानसभा के लिए उद्दरदायी होंगे जबकि बन्ना गुप्ता (Banna Gupta) को ऊर्जा विभाग का दायित्व सौंपा गया है।