शेयर बाजार लाल: सेंसेक्स 400 से अधिक अंक लुढ़का, निफ्टी आया 18200 के नीचे

 

आज इस सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को शेयर बाजार की शुरुआत कमजोर रही। बीएसई का 30 स्टॉक्स पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स  194.98 अंकों की गिरावट के साथ 61040  के स्तर पर खुला तो वहीं, निफ्टी ने 18185 के स्तर से आज दिन के कारोबार की शुरुआत की। शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स में ही सेंसेक्स 400 अंक टूटकर 60834 पर आ गया। वहीं निफ्टी 119.90 अंक लुढ़क कर 18,137.90 के स्तर पर आ गया। सेंसेक्स पर टाइटन को छोड़ सभी स्टॉक्स लाल निशान पर थे।
 
उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में बीएसई सेंसेक्स बृहस्पतिवार को 85 अंक चढ़कर बंद हुआ। सूचकांक में मजबूत हिस्सेदारी रखने वाली इन्फोसिस, टाटा स्टील और एल एंड टी के फायदे में रहने से बाजार में मजबूती आई। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 85.26 अंक यानी 0.14 प्रतिशत बढ़कर 61,235.30 अंक पर बंद हुआ। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 45.45 अंक यानी 0.25 प्रतिशत की तेजी के साथ 18,257.80 अंक पर बंद हुआ। शेयर बाजार में उपलब्ध आंकड़े के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने बुधवार को 1,001.57 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे।
 

एसबीआई ने ''फॉर्मोसा'' बांड जारी कर 30 करोड़ डॉलर जुटाए

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसने 2.49 प्रतिशत ब्याज पर बांड (रेगुलेश एस फॉर्मोसा) से 30 करोड़ डॉलर जुटाए हैं।  ताइवान में जारी किया जाने वाला बांड फॉर्मोसा बांड कहलाता है।   एक बयान के अनुसार एसबीआई ने अपनी लंदन शाखा के माध्यम से 5 साल के लिये 30 करोड़ डॉलर जुटाए, जिसका मानकीकरण पांच वर्षीय अमेरिकी ट्रेजरी के अनुरूप किया गया था। इस पर ब्याज मानक मूल्य से 100 आधार अंक (एक प्रतिशत) अधिक था।

रिलायंस गुजरात में हरित ऊर्जा, अन्य परियोजनाओं में 5.95 लाख करोड़ रुपये निवेश करेगी

मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) अगले 10 से 15 साल के दौरान गुजरात में हरित ऊर्जा और अन्य परियोजनाओं में 5.95 लाख करोड़ रुपये निवेश करेगी।   रिलायंस इंडस्ट्रीज ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि कंपनी राज्य में एक लाख मेगावॉट का नवीकरणीय ऊर्जा संयंत्र और हरित हाइड्रोजन परिवेश के विकास के लिए 5 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगी।

अडाणी समूह का गुजरात में इस्पात संयंत्र लगाने के लिए पॉस्को के साथ समझौता

अडाणी समूह ने गुजरात में एक एकीकृत इस्पात संयंत्र लगाने और अन्य कारोबारी संभावनाओं की तलाश के लिए दक्षिण कोरियाई कंपनी पॉस्को के साथ पांच अरब डॉलर का प्रारंभिक समझौता किया है। दोनों कंपनियों ने बृहस्पतिवार को इस आशय के समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। यह एक गैर-बाध्यकारी करार है और इसके मूर्त रूप लेने की स्थिति में अडाणी समूह के लिए इस्पात क्षेत्र में कदम रखने का रास्ता साफ हो जाएगा।

From around the web