मार्च में हुआ रिकॉर्ड तोड़ जीएसटी कलेक्शन

 

मार्च में हुआ रिकॉर्ड तोड़ जीएसटी कलेक्शन  माल एवं सेवा कर राजस्‍व संग्रह के मामले में मार्च 2021 में एक नया रिकॉर्ड बना है। वित्त मंत्रालय ने कहा कि मार्च में जीएसटी संग्रह बढ़कर 1.23 लाख करोड़ रुपए की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया, जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 27 प्रतिशत अधिक है। मंत्रालय ने कहा ‎कि जीएसटी राजस्व पिछले छह महीनों के दौरान एक लाख करोड़ रुपए से अधिक रहा है, और इस अवधि में तेजी से वृद्धि के रुझानों से महामारी के बाद आर्थिक सुधार के स्पष्ट संकेत मिलते हैं।

 माल एवं सेवा कर राजस्‍व संग्रह के मामले में मार्च 2021 में एक नया रिकॉर्ड बना है। वित्त मंत्रालय ने कहा कि मार्च में जीएसटी संग्रह बढ़कर 1.23 लाख करोड़ रुपए की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया, जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 27 प्रतिशत अधिक है। मंत्रालय ने कहा ‎कि जीएसटी राजस्व पिछले छह महीनों के दौरान एक लाख करोड़ रुपए से अधिक रहा है, और इस अवधि में तेजी से वृद्धि के रुझानों से महामारी के बाद आर्थिक सुधार के स्पष्ट संकेत मिलते हैं।

मार्च के महीने में जीएसटी कलेक्शन जीएसटी को लॉन्च करने के बाद से सबसे ज्यादा रहा है। मार्च 2020 में यह 97590 करोड़ रुपए रहा था। इस साल जनवरी में जीएसटी कलेक्शन 119875 करोड़ और फरवरी में 113143 करोड़ रुपए रहा था। मंत्रालय ने आगे कहा कि जीएसटी, आयकर और सीमा शुल्क आईटी प्रणाली सहित बहुपक्षीय स्रोतों से मिलने वाले डेटा का इस्तेमाल करके नकली-बिलिंग के खिलाफ गहरी निगरानी की गई है, जिसने राजस्व संग्रह में योगदान किया।

सकल जीएसटी राजस्व मार्च 2021 में 1,23,902 करोड़ रुपए रहा, जिसमें केंद्रीय जीएसटी के 22,973 करोड़ रुपए, राज्य जीएसटी के 29,329 करोड़ रुपए और एकीकृत जीएसटी के 62,842 करोड़ रुपए (वस्तुओं के आयात पर जमा 31,097 करोड़ रुपए सहित) और उपकर के 8,757 करोड़ रुपए शामिल हैं। मंत्रालय ने कहा ‎कि मार्च 2021 के दौरान जीएसटी राजस्व, जीएसटी की शुरुआत से सबसे अधिक है। पिछले पांच महीनों में जीएसटी राजस्व संग्रह की प्रवृत्ति के अनुरूप ही मार्च 2021 में राजस्व संग्रह पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 27 प्रतिशत अधिक है।

From around the web

>