सब्जियां सस्ती होने से आम लोगों की मिली बड़ी राहत, जानिए क्या है सब्जियों की नई कीमत

 

सब्जियों के दाम कम होने से आम लोगों को बड़ी राहत मिली है. इससे आम आदमी पर बढ़ रहा मंहगाई का अधिक भार थोड़ा कम हुआ है. इसके साथ ही किचन के बजट में भी सुधार हुआ है. खासकर मंडियों में लोकल सब्जियों की आवक से दामों में कमी आई है. आइए जानते हैं कि दाम में आई कमी के बाद इस समय मंडियों में क्या है सब्जियों का ताजा भाव?

ये हैं सब्जियों के नए रेट
मंडियों में लोकल सब्जियों की आवक नहीं होने से लगभग हर प्रकार की सब्जियों की कीमत पहले से काफी बढ़ा हुआ था. वहीं, इस समय मंडी में लोकल सब्जियों की आवक के साथ ही सब्जियों का दाम कम होना शुरु हो गया है. सब्जियों के भाव की बात करे तो इस समय हरी सब्जियों में पालक 40 रुपये, मेथी 50 रुपये, लौकी 30 रुपये, बोड़ा 40 रुपये, वहीं, अन्य सब्जियों की बात करे तो प्याज 40 रुपये, गोभी 50 से 60 रुपये, बैगन 40 रुपये, भिंडी 40 रुपये, वहीं, टमाटर 80 रुपये किलो के भाव पर रुका हुआ है. जबकि लहसुन 100 से 120 रुपये किलो के हिसाब से बिक रहा है.

लोकल सब्जियों के आने से और घटेंगे दाम

बता दें कि वैसे तो हर साल इस मौसम में सब्जियों के दाम (Vegetables Price) कम रहते हैं और मंडियों में भी तरह-तरह के मौसमी सब्जियों की भरमार रहती है. लेकिन इस साल मानसून के देर से लौटने के कारण खेतों में लगी सब्जियों पर इसका बुरा असर पड़ा था. इससे मंडियों में सब्जियों की आवक भी काफी कम हो गई थी. हालांकि की अब मंडियों में लोकल सब्जियों की आवक होने लगी है, जिससे सब्जियों के दाम में कमी आई है. सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि जल्द ही मंडियों में लोकल सब्जियों की आवक बढ़ेने के साथ- साथ इसके दामों में और कमी आती जाएगी.

फायदेमंद होती हैं सब्जियां

सब्जियां खाना सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है. खास करके हरी सब्जियों में ऐसे कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो आपके हेल्दी रखने में काफी मदद करते हैं. एक्सपर्ट्स की माने तो हरी सब्जी आपके दिल को स्वसथ रखने के साथ-साथ आपके वजन को कम और इम्युनिटी को स्ट्रॉन्ग करने में भी मदद करता है. लेकिन जिस हिसाब से सब्जियों के दाम दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं, वैसे-वैसे लोग अब पहले की अपेक्षा कम सब्जियों का प्रयोग कर रहे हैं.

From around the web