5 साल तक नजरअंदाज किए जाने के बाद इमोशनल दिखें Rishi Dhawan, कहा-अच्छे प्रदर्शन के बाद भी…

0
28

टीम इंडिया में खेलने का सपना लेना हर एक खिलाड़ी आता है। लेकिन कुछ ही खिलाड़ी टीम इंडिया की तरफ से खेल पाते है। वहीं टीम में एंट्री करने के बाद भी खिलाड़ियों के बीच काफी कॉम्पिटिशन नजर आता है। जहां खिलाड़ियों के खराब प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें टीम से बाहर भी कर दिया जाता है और दोबारा जल्दी से मौका नहीं दिया जाता।

बता दें कई खिलाड़ी टीम इंडिया में वापसी करने का बेसर्बी से इंतजार और कड़ी मेहनत कर रहे है। इन्हीं में से एक है आईपीएल के मौजूदा सीजन में पंजाब किंग्स की तरफ से खेल रहे खिलाड़ी Rishi Dhawan, जिन्हें पिछले 5 सालों से टीम नजरअंदाज कर रही है, जिसके बाद अब उन्होंने इमोशनल होते हुए एक खुलासा किया है। आइये जानते है Rishi Dhawan ने क्या कहा?

पंजाब किंग्स के Rishi Dhawan का छलका दर्द

Rishi Dhawan

दरअसल हाल ही में आईपीएल 2022 में पंजाब किंग्स की तरफ से खेल रहे Rishi Dhawan का दर्द छलका है। बता दें उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा कि उन्हें अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद भी टीम इंडिया में खेलने का मौका नहीं मिला। बता दें उन्होंने आखिरी बार साल 2016 में टीम इंडिया की तरफ से खेला था। ऐसे में उन्होंने कहा,

“4 साल तक आईपीएल में खेलने और भारत के लिए डेब्यू करने के बाद, मुझे टीम से बाहर कर दिया गया। पांच साल तक मुझे किसी ने सेलेक्ट नहीं किया। घरेलू स्तर पर मेरे प्रदर्शन को कोई देख ही नहीं रहा था”

Rishi Dhawan

इसके साथ ही Rishi Dhawan ने आगे कहा, ”यह निराशाजनक था कि अच्छा प्रदर्शन के बाद भी मुझे मौके नहीं मिल रहे थे। मेरे अंदर ये दर्द जिसे मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता। जब मैं भारत के लिए खेला , तो मैं उस तरह का प्रदर्शन देने में नाकाम रहा, जिसकी मुझसे उम्मीद की जा रही थी। मुझे अब भी विश्वास है कि मैं और बेहतर कर सकता था।”

टीम इंडिया में वापसी करना चाहते है Rishi Dhawan

Rishi Dhawan

बता दें आईपीएल के 15वें सीजन में ऋषि धवन अच्छे फॉर्म में नजर आ रहे है। इसके साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई है कि वो दोबारा टीम इंडिया में वापसी कर सकते हैं। उन्होंने कहा,

”मेरा लक्ष्य भारतीय टीम में वापसी करना है और ऐसा करने में सक्षम होने के लिए आपको सही तरह के माहौल की जरुरत है। हिमाचल प्रदेश के साथ पहला घरेलू खिताब जीतना मेरे सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट पलों में से एक हां।”