27 तो मौतें , 29 अब भी लापता…

0
95

नई दिल्ली | Mundka Fire Update : देश की राजधानी दिल्ली के बाहरी इलाके मुंडका के एक इमारत में भीषण आग लगने की खबर ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है. हादसे के एक दिन बाद बदहवास रिश्तेदार अब भी अपने प्रियजनों की तलाश कर रहे हैं. पुलिस ने कहा है कि 29 लोगों का पता नहीं चल पाया है. इस घटना में अबतक 27 लोगों की मौत की पुष्टि हो गई है. दमकल विभाग के अनुसार, शनिवार की सुबह आग बुझाने के अभियान के दौरान इमारत में झुलसे हुए अवशेष पाए जाने के कारण मृतक संख्या बढ़कर 30 तक हो सकती है. 12 घायलों का यहां एक अस्पताल में इलाज चल रहा है. उन्होंने कहा कि चार मंजिला इमारत, जिसके पास अग्नि सुरक्षा प्रमाण पत्र नहीं था, में एक ही प्रवेश और निकास मार्ग था, जो हताहतों की बड़ी संख्या का कारण हो सकता है.

बाहर निकलने का था एक ही रास्ता…

Mundka Fire Update : मुख्य दमकल अधिकारी अतुल गर्ग के अनुसार इमारत में बचने का एक ही रास्ता था. यही वजह है कि इतने लोग हताहत हुए. 27 लोगों की मौत हो गई. अधिकारियों ने कहा कि प्रवेश और निकास के लिए केवल एक संकरी सीढ़ी थी, जिससे जलती हुई इमारत से बाहर निकलना मुश्किल हो गया. गर्ग ने कहा कि आशंका है कि किसी एसी में विस्फोट से आग लगी हो. पुलिस उपायुक्त समीर शर्मा ने कहा कि सीसीटीवी कैमरा और राउटर निर्माण एवं पैकेजिंग कंपनी के मालिक हरीश गोयल और उनके भाई वरुण गोयल के कार्यालय से आग लगने का संदेह है. दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

इसे भी पढें- टीमें ही नहीं खिलाड़ी भी हो रहे हैं बाहर, सन्यास की घोषणा के बाद डिलीट किया ट्वीट…

अवशेषों से कुछ भी बताना मुश्किल

Mundka Fire Update : पुलिस और दमकलकर्मियों का कहना है कि जिस तरह से अवशेष मिल रहे हैं उससे ये पता लगाना भी मुश्किल है कि अवशेष एक व्यक्ति के हैं या उससे अधिक के. डीसीपी ने कहा कि 27 मृतकों में से सात की पहचान हो पाई है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को घटनास्थल का दौरा किया. मुख्यमंत्री ने इमारत की पहली मंजिल से शुरू हुई आग में मारे गए लोगों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये मुआवजा देने की घोषणा की..

इसे भी पढें- बॉलीवुड के ‘किंग खान’ ने बेटी को दिए Career Tips…