हर हर शंभु गाने वाली फ़रमानी ने कहा- जब पति मुझे मारता था तब हर चीज़ को हराम बताने वाले उलेमा कहां थे?

0
23

Har Har Shambhu Farmani Song: हर हर शंभु गाने वाली मुस्लिम गायिका फ़रमानी नाज़ ने उन उलेमाओं को करारा जवाब दिया है जिन्होंने एक मुस्लिम लड़की को महादेव शिव के गाने को गए जाना हराम बता दिया था. मुस्लिम उलेमाओं को बर्दाश्त नहीं हुआ कि एक मुस्लिम हो कर फ़रमानी गाना कैसे गा सकती और गाना तो ठीक हिन्दू देवता वाला गाना कैसे गा सकती है? 

हर हर शंभु गाना वैसे भी हर जुबान पर है, फ़रमानी ने जब यह गाना गाया तो कट्टरपंथियों की धोती में आग लग गई, वह तिलमिला गए. फ़रमानी को काफिर कह दिया, उसे मारने की धमकी देने लगे, कहने लगे वो मुसलमान ही नहीं है और फ़रमानी के खिलाफ फतवा जारी कर दिया। मुस्लिम उलेमाओं ने फ़रमानी के गाए गाने को हराम कह दिया। 

फ़रमानी के हर हर शंभु गाने के बाद कट्टरपंथियों के दिल में जो आग लगी उसी आग ने फ़रमानी को चमका दिया, अब हर जगह सिर्फ फ़रमानी और उनके गाने की चर्चा हो रही है. न्यूज़ वाले इंटरव्यू ले रहे हैं, अख़बारों में बड़ी -बड़ी फोटो छप रही है. ऐसा लग रहा है जैसे फ़रमानी पर महादेव की कृपा बरस गई है.  

फ़रमानी ने कट्टरपंथियों को करारा जवाब दिया 

मुस्लिम उलेमाओं ने जब फ़रमानी नाज़ के खिलाफ फतवा जारी कर उनके गाने को इस्लाम के खिलाफ और हराम बताया तो वह भी चुप नहीं बैठीं। जाहिल कट्टरपंथियों की दुखती रग को दाबने के फ़रमानी ने कई बार लाइव टीवी में हर हर शंभु गाने गए. और अब उन्होंने नफरत फ़ैलाने वाले गंवार उलेमाओं को करारा जवाब दिया है. 

फ़रमानी ने कहा- जब मेरा पति मुझे पीटता था तब ये उलेमा कहाँ थे, जब वो मुझे बेबस कर छोड़ दिया तब ये हर चीज़ को हराम कहने वाले उलेमा कहाँ थे? ये जितने उलेमा हैं इस्लाम के नामपर महिलाओं के हर काम को हराम कह देते हैं. 

मैं किस तकलीफ से गुजरी हूँ यह उन उलेमाओं को मालूम नहीं, मेरा पति मेरे साथ बैठकर दूसरी लड़कियों से बात करता था, रोकने पर मुझे मारता था. एक पत्नी के होते हुए उसने दूसरी शादी की, तब इन उलेमाओं को इस्लाम की याद क्यों नहीं आई. 

मेरे माता पिता ने कर्ज लेकर मेरी शादी की थी, और उसने मेरे रहते हुए दूसरी लड़की से शादी का ली, मेरा बच्चा हुआ तो मुझे लगा अब सब ठीक हो जाएगा लेकिन उसने हम दोनों को घर से निकाल दिया। मैं कलाकार हूँ और कला को समुदाय में बांटकर इसे खत्म नहीं करने वाली, शिव जी का गाना मेरे लिए एक भक्ति ही है. 

जिन्हे दिक्कत है वो ना सुनें 

फ़रमानी ने कहा मैं तो गाउंगी, खूब गाउंगी, मुझे फतवों और उलेमाओं की परवाह नहीं है. मैंने कांवड़ियों के लिए हर हर शंभु गाया है, आगे भी गाती रहूंगी, जिनको दिक्क्त है वो मेरा गाना ना सुने, और अच्छा नहीं बोल सकते तो बुरा भी ना बोलें।