सेवानिवृत्त चालक-परिचालकों को फिर रोडवेज बस दौड़ाने को मिलेगी…

0
35

बरेली, अमृत विचार। रोडवेज सेवानिवृत्त चालक और परिचालकों की भर्ती करेगा। इसके लिए सेवानिवृत्त चालकों से आवेदन मांगे गए हैं। वहीं 65 साल की उम्र वाले चालकों को पांच साल के लिए नौकरी पर रखा जाएगा। इसके बाद चालकों को जांच भी करानी पड़ेगी, जिसमे आंखों का टेस्ट भी लिया जाएगा। वहीं नई भर्ती होने के बाद लंबे रूट की बसों पर दो चालकों को भेजा जाएगा।

Advertisement

परिवहन निगम की बसों पर तीन सौ किलोमीटर से अधिक दूरी के रूटों पर एक बस पर दो चालकों को भेजने का नियम है, लेकिन कमाई के चक्कर में लंबी दूरी की बसों पर भी सिर्फ एक ही चालक भेजा रहा है। ऐसे में कई बस चालक नींद में होने के बावजूद बसों का संचालन करते हैं। ये उनींदे बस चालक रोडवेज बसों में यात्रियों को खतरे का सफर करा रहे हैं।

अब लंबी दूरी पर दो चालकों को भेजने के लिए सेवानिवृत्त चालक और परिचालकों की भर्ती की जाएगी। बरेली रीजन में कुल 669 बसे हैं। इनमें से 201 बरेली डिपो, 201 रुहेलखंड डिपो, 169 पीलीभीत डिपो तो बदायूं डिपो में 128 बसें हैं। बरेली रीजन की बसों पर 260 चालक हैं, जिनमें से 30 सरकारी चालक है और बाकी के 250 अनुबंधित हैं।

वहीं रोडवेज की बसें दिल्ली, देहरादून, लखनऊ, समेत अन्य लंबी दूरी पर भी जाती है। चालकों की कमी को देखते हुए सेवानिवृत्त चालकों को दोबारा से पांच साल के लिए भर्ती किया जाएगा। पूरे रीजन में 50 चालकों की भर्ती की जाएगी। जिन चालकों की भर्ती की जाएगी उनका रूटीन चेकअप भी किया जाएगा, जिसमें आंखों की जांच होना जरूरी है।

कम दिक्कत होने पर उनका चश्मा बनवाया जाएगा, लेकिन अधिक नजर कमजोर होने पर उन्हें भर्ती नहीं किया जाएगा। एआरएम राजेश यादव ने बताया कि चालक अवकाश पर होने की वजह से दिक्कत होती है। चालकों की कमी पूरा करने के लिए भर्ती की जाएगी।

ये भी पढ़ें-

बरेली: ठगों ने गैस एजेंसी मालिक के खाते से उड़ाए 75 लाख रुपये