सेतु निगम की कार्रवाई से खफा नगर के ताजिया दार डीएम से मिले

0
20

Advertisement

अयोध्या। बड़ी बुआ स्थित कर्बला और कब्रिस्तान पर सेतु निगम द्वारा की गई कार्रवाई को लेकर गुरुवार को ताजियेदारों ने डीएम नितिश कुमार से मुलाकात की। ताजियेदारों का आरोप है कि सेतु निगम ने बिना कमेटी को सूचना दिए वहां की दीवार गिरा दी और खंभे खड़े कर दिए। कमेटी का कहना है कि समस्या का निराकरण नहीं किया गया तो दसवीं मोहर्रम को ताजिया दफन करने को लेकर बड़ा निर्णय लिया जा सकता है।

Advertisement

कमेटी के अध्यक्ष मिस्बहाद्दीन ने बताया कि तहसील सदर में जिला गाटा नम्बर -2247, 2248 बुजुर्गों द्वारा बैनामा शुदा है और उप्र सुन्नी सेन्ट्रल वक्फ बोर्ड में रजिस्टर्ड है। इस भूमि का इस्तेमाल कब्रिस्तान व कर्बला के तौर पर होता चला आ रहा है। मोहर्रम में यहां कर्बला में ताजिये दफन किये जाते हैं। सुरक्षा के लिए यहां चाहरदीवारी काफी अरसा पहले बनाई गई थी।

Advertisement

अध्यक्ष ने बताया कि भूमि का कोई हिस्सा कभी भी सरकार द्वारा अध्यापित नहीं किया गया है। उन्होंने कहा राज्य सेतु निगम लिमिटेड सेतु निर्माण इकाई-2 के कर्मचारियों द्वारा नाजायज तौर पर गाटा नंबरान की पूर्वी दीवार का काफी हिस्सा बिना किसी सूचना के गिरवा दिया और वक्फ की भूमि में तमाम गड्ढे खोद कर बिजली के खंभे लगवा दिया।

आरोप है कि निगम के कर्मचारियों का कृत्य बिल्कुल अवैधानिक है, जिसे लेकर ताजियेदारों में रोष है। कमेटी सदस्य मुनीर आब्दी ने बताया कि निगम को कई बार कहा गया, लेकिन ध्यान नहीं दिया गया। कमेटी का कहना है कि यदि निराकरण नहीं हुआ तो आगे फैसला होगा। उन्होंने बताया कि डीएम ने इस बाबत सेतु निगम को निर्देशित किया है। डीएम से मिलने वालों में मो. हलीम पप्पू, वसी हैदर गुड्डू समेत भारी संख्या में ताजियादार शामिल रहे।

पढ़ें-मुरादाबाद : संभल चौराहे पर लगने वाले जाम से निजात की बंधी उम्मीद, पुल के चौड़ीकरण के लिए सेतु निगम की टीम करेगी सर्वे

Advertisement