सीएम योगी ने पुरोहित कल्याण बोर्ड के गठन को जल्द पूरा करने का दिया..

लखनऊ, अमृत विचार। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी धर्मों के बुजुर्ग संतों, पुजारियों, पुरोहितों एवं मौलवियों आदि के कल्याण हेतु पुरोहित कल्याण बोर्ड के प्रस्तावित गठन का काम यथाशीघ्र पूर्ण करने का निर्देश दिया है।

Advertisement

योगी ने बुधवार को एक उच्चस्तरीय बैठक में दिशानिर्देश जारी करते हुए कहा कि विधान सभा चुनाव से पहले भाजपा ने अपने लोक कल्याण संकल्प पत्र में बुजुर्ग संतों, पुजारियों एवं पुरोहितों के कल्याण हेतु राज्य सरकार द्वारा पुरोहित कल्याण बोर्ड का गठन करने का वादा किया था।

इस वादे को पूरा करने के लिये उन्हाेंने पुरोहित कल्याण बोर्ड के गठन का कार्य यथाशीघ्र पूर्ण करने का निर्देश देते हुए कहा कि बोर्ड से लाभान्वित होने के योग्य सभी धर्मों के संतों, पुजारियों का सत्यापन एवं चिन्हांकन कर लिया जाए।

उन्होंने कहा कि बोर्ड के माध्यम से सभी धर्मों के पुजारियों, संतों, पुरोहितों, मौलवियों, फ़कीरों को लाभान्वित किया जाना चाहिए।
बोर्ड द्वारा न केवल इनके कल्याणार्थ कार्य किया जाए, वरन, विभिन्न धर्म, सम्प्रदायों की परंपरा का संरक्षण और पुरोहितों का प्रशिक्षण भी कराया जाए। इस दौरान उन्होंने मंदिर सूचना प्रणाली और बोर्ड को भी एकीकृत करने को कहा।

योगी ने बैठक में कहा कि जनआस्था का सम्मान करते हुए राज्य सरकार धार्मिक पर्यटन को प्रोत्सहित कर रही है। उन्होंने लोक कल्याण संकल्प पत्र-2022 में ‘ऑनलाइन एकीकृत मंदिर सूचना प्रणाली’ की शुरुआत करने के संकल्प का जिक्र करते हुए कहा कि इस प्रणाली को यथाशीघ्र क्रियान्वित किया जाए।

उन्होंने कहा कि ऑनलाईन पोर्टल में हिंदू, बौद्ध, सिख, जैन आदि धर्म-सम्प्रदायों से जुड़े धर्मस्थलों के बारे में विस्तार से जानकारी उपलब्ध हो। हर जनपद के धर्मस्थल का विवरण इस पर दिया जाए।

यह भी पढ़ें –लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ के 50वें जन्मदिन के मौके पर खास अंदाज में मायावती और शिवपाल सिंह यादव ने दी बधाई