सिर्फ खिलाडी ही नहीं धोनी ने अपनी कप्तानी में टीमों के कोच को भी निखारा

0
31

MS Dhoni: इंडियन क्रिकेट की जब भी बात की जाएगी तो सबसे सफल कप्तानों में महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) का नाम सबसे ऊपर होगा. इंडियन क्रिकेट टीम को उनके जैसा दूसरा कप्त न आज तक नहीं मिलता है. वो सिर्फ इंडिया के ही नहीं वर्ल्ड क्रिकेट के भी सबसे सफल कप्तानों में से एक है. धोनी (MS Dhoni) ने अपनी कप्तानी में कई युवा खिलाडियों को मौका देने के साथ टीम को संतुलित रखते हुए शानदार प्रदर्शन किया है.

रांची के इस खिलाडी ने अपनी कप्तानी पारी से कैप्टन कूल का नाम हासिल किया. उन्होंने कप्तानी को नए आयाम दिए है. आईपीएल में भी उन्होंने चेन्नई और पुणे की टीमों की कप्तानी की है. कई खिलाड़ी हैं जो धोनी के साथ कुछ सालों पहले तक तो खेल रहे थे, लेकिन अब वो रिटायर हो चुके हैं. और रिटायर होने के बाद वो क्रिकेट कोचिंग कर रहे है. तो आज हम बात करेंगे ऐसे ही खिलाडियों की जो धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में खेलने के बाद अब कोचिंग कर रहे है.

1. वसीम जाफर

Dhoni

इंडियन क्रिकेट की टेस्ट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज़ वसीम जाफर ने आईपीएल में अपनी सेवाएँ दी है. जाफर ने दो साल तक आईपीएल खेला है. हम आपको बता दें की धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में उन्होंने टेस्ट मैच भी खेले है. वासी तो जाफर को टीम के लिए बहुत ज्यादा मौके नहीं मिले और उन्होंने जल्द ही इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया. आईपीएल में पंजाब की टीम के साथ वो बैटिंग कोचिंग के तौर पर जुड़े. इसके अलावा वो बांग्लादेश की टीम के भी कोच की भूमिका निभा चुके है.

2. ब्रेंडन मैकुलम

सिर्फ खिलाडी ही नहीं धोनी ने अपनी कप्तानी में टीमों के कोच को भी निखारा

आईपीएल के पहले ही मैच में 158 रन की शानदार पारी खेलने वाले ब्रेंडन मैकुलम न्यूज़ीलैण्ड के सबसे शानदार खिलाडियों में से एक है. आईपीएल में उन्होंने 109 मैच खेले है जिसमें उन्होंने धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई की टीम से साथ ही खले है. आईपीएल से हटने के बाद उन्हें साल 2019 में कैरेबियन लीग की टीम त्रिनिदाद नाईट राइडर्स और कोलकाता नाईट राइडर्स का कोच बनाया गया. उनकी कोचिंग का ही परिणाम था कि त्रिनिदाद ने 2020 में अपना चौथा सीपीएल ख़िताब जीता था.

3. लक्ष्मीपति बालाजी

सिर्फ खिलाडी ही नहीं धोनी ने अपनी कप्तानी में टीमों के कोच को भी निखारा

कप्तान से अपने खिलाडियों को निखारने की उम्मीद की जाती है लेकिन धोनी ने अपनी कप्तानी में कोच भी बनाये है. जी हाँ लक्ष्मीपति बालाजी चेन्नई के लिए आईपीएल में खले है. क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद उन्होंने कोलकाता के गेंदबाजी कोच के तौर पर टीम को अपनी सेवाएं दी और इसके एक साल बाद उन्होंने चेन्नई के लिए गेंदबाजी कोच ही भूमिका अपनाई. हम बता दें बालाजी ने आईपीएल इतिहास में 76 विकेट अपने नाम किये है जो एक अच्छे आंकडें कहे जा सकते है.

2. माइक हसी

सिर्फ खिलाडी ही नहीं धोनी ने अपनी कप्तानी में टीमों के कोच को भी निखारा

2008 में अपने पहले ही आईपीएल सीजन में शतक लगाने वाले ऑस्ट्रेलियन खिलाड़ी माइक हसी 2013 तक और फिर 201 5 में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए शीर्षक्रम में बल्लेबाजी की है. Dhoni की कप्तानी में 50 मैच खेलने वाले इस बाएं हाथ के बल्लेबाज ने कुल 59 मैचों में 1977 रन बनाए हैं. 2015 में अपना आखिरी आईपीएल मैच खेलने वाले हसी को फिर किसी भी फ्रेचाइजी ने नहीं खरीदा. जनवरी 2018 में इन्हें चेन्नई ने अपना बैटिंग कोच नियुक्त कर लिया.

1. स्टीफेन फ्लेमिंग

सिर्फ खिलाडी ही नहीं धोनी ने अपनी कप्तानी में टीमों के कोच को भी निखारा

2008 में चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के लिए एक खिलाडी के तौर पर बल्लेबाजी करने वाले न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान स्टीफेन फ्लेमिंग ने सिर्फ 10 ही मैच खेले हैं. इन मैच में उन्होंने 196 रन बनाये है. उस साल Dhoni ने ही टीम की कमान सम्भाली थी. 2000 में न्यूज़ीलैण्ड के लिए आईसीसी नॉकआउट ट्रॉफी भी फ्लेमिंग ने अपनी कप्तानी में जीती है. साल 2009 में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद वो लगातार छह साल तक चेन्नई के मुख्य कोच बने रहे. टीम पर दो साल का बैन लगने के बाद जब टीम वापस आईपीएल में उतरी तो वो साल 2018 में दोबोरा उनके कोच के तौर पर टीम में वापस लौट आये.

और पढ़िए:

आईपीएल 2022 में चेन्नई और मुंबई के बीच डेवोन कॉन्वे के साथ हुआ कुछ ऐसा, दर्शक बोले मैच चल रहा है या मजाक

IPL 2022 में इन पांच युवा खिलाडियों ने डेब्यू सीज़न में ही मचाया धमाल, टीम इंडिया के दरवाज़े पर दे रहे दस्तक

IPL 2022 दिल्ली और राजस्थान के मुकाबले के बाद क्या है ऑरेंज कैप का हाल, किस खिलाडी के सर पर है ऑरेंज ताज