Tuesday, June 28, 2022
HomeRegionalसार्वजनिक रास्ते पर खड़ंजा निर्माण रोके जाने का मामला पहुंचा सीएम दरबार

सार्वजनिक रास्ते पर खड़ंजा निर्माण रोके जाने का मामला पहुंचा सीएम दरबार

अमृत विचार,अयोध्या। तहसील क्षेत्र के ग्राम रेवना मजरे पूरे तुलापुर में आम रास्ते पर खड़ंजा निर्माण रोके जाने का मामला मुख्यमंत्री दरबार तक पहुंच गया है। जिला अधिकारी ने भी मिल्कीपुर तहसीलदार को समस्या के समाधान के लिए निर्देशित किया है। वहीं शिकायतकर्ता ने हल्का लेखपाल व राजस्व निरीक्षक पर दिये गए प्रार्थना पत्रों पर फर्जी आख्या लगाने का आरोप लगाया है।

Advertisement

ग्राम रेवना निवासी श्रवण कुमार पांडे ने बताया कि ग्राम रेवना के मजरे तुलापुर में गांव के दक्षिण चकमार्ग से निकलकर एक बहुत पुराना सार्वजनिक रास्ता अखिलेश पांडे, अवधेश पांडे, सच्चिदानंद पांडे व सुरेश कुमार व कामाख्या प्रसाद के दरवाजे से होते हुए गांव के पश्चिम चकमार्ग के माध्यम से सिंधौरा आहरन सुवंश संपर्क मार्ग से पक्की सड़क में जुड़ा हुआ है।

जिस पर गांव के दक्षिण चकमार्ग से अखिलेश व अवधेश पांडे के दरवाजे तक पहले से ही खड़ंजा लगा हुआ है। गांव के पश्चिम कामाख्या पांडे के दरवाजे से पक्की सड़क तक मुख्यमंत्री त्वरित विकास योजना के तहत खड़ंजे का निर्माण कार्य चल रहा है। बीच में अवधेश पांडे के दरवाजे से कामाख्या प्रसाद के दरवाजे तक जिसकी दूरी लगभग 25-30 मीटर है।

इस रास्ते को निर्माण से वंचित किया जा रहा है। शिकायतकर्ता ने बताया कि गांव के एक दबंग व्यक्ति इस मार्ग पर खड़ंजा लगने से मना कर रहे हैं, जिससे यह सार्वजनिक रास्ता पूर्ण रूप से बाधित होता नजर आ रहा है।

पीड़ित ग्रामवासी ने इस बात का शिकायती पत्र मुख्यमंत्री को भी भेजा है। यही नहीं इस मामले में डीएम नितीश कुमार ने तहसीलदार मिल्कीपुर को परीक्षण उपरांत आवश्यक कार्रवाई कर समस्या का समाधान कराते हुए आख्या प्रस्तुत करने का भी निर्देश दिया है। इसके बावजूद अभी तक मामला जस का तस पड़ा हुआ है।

पढ़ें-बहराइच: खड़ंजा निर्माण में घटिया सामग्री प्रयोग होने पर जेई ने लगाई रोक

RELATED ARTICLES
- Advertisment -