सर्राफा और कपड़ा कारोबारियों में मचा हड़कंप

0
22

Advertisement

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर, दुर्ग-भिलाई और राजनांदगांव के कपड़ा और ज्वेलरी कारोबारी के ठिकानों पर एक साथ छापा मारा गया है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम ने कपड़े और ज्वेलरी में नामी ग्रुप में सुबह 6 बजे दबिश दी।

Advertisement

बताया जा रहा है कि टीम में दिल्ली सहित अलग-अलग राज्यों के अफसर शामिल हैं। ईडी की अफसर अभी दस्तावेजों की जांच कर रहे हैं। इस दौरान किसी को अंदर और बाहर जाने नहीं जाने दिया जा रहा है। प्रदेश में इनकम टैक्स (आईटी) के बाद ईडी के छापों से हड़कंप मच गया है।

Advertisement

मिली जानकारी के मुताबिक ईडी ने प्रदेश के अलग-अलग जिलों में एक साथ छापा मारा है। ईडी की टीम ने रायपुर के सुमित ज्वेलर्स, पगारिया ज्वेलर्स, कपड़ा कारोबारी शांतिलाल बरड़िया के यहां छापा मारा है।

वहीं दुर्ग में भी टीम ने सहेली ज्वेलर्स, नवकार ज्वेलर्स, दुर्ग में खंडेलवाल कॉलोनी में सीए सुनील जैन, शिवम स्टोर, जीवन प्लाजा में सीए कोठारी ब्रदर्स के कार्यालय, सराफा लाइन स्थित सहेली ज्वेलर्स, प्रकाश सांखला के ठिकानों पर छापेमारी की गई है। राजनांदगांव के नाकोड़ा टेक्सटाइइल, मोहनी ज्वेलर्स में कार्रवाई चल रही है। कुछ और जिलों में भी टीम के जाने की खबर है।

बता दें कि 3 अगस्त को आईटी की टीम ने रायपुर, कोरबा और रायगढ़ में स्टील और पावर प्लांट से जुड़े कारोबारियों के यहां छापा मारा था। एचएसआर रोलर, नूतन इस्पात, ग्रेविटी फेरस, धनकुंड स्टील के मालिक धीरज सुराना, भवानी मोल्डर्स के सुनील अग्रवाल और निर्माण टीएमटी के मालिक राजेश तोला के रायपुर, कोरबा, रायगढ़ के दफ्तरों में आईटी की रेड पड़ी थी।

रायपुर के मोवा स्थित लक्सोरा, फरिश्ता कॉम्प्लेक्स और वॉलफोर्ट सिटी में भी आईटी की टीम दस्तावेजों की जांच की थी। टीम ने 10 से ज्यादा जगहों पर छापा मारा था। आईटी की रेड में क्या मिला है, इसकी जानकारी सामने नहीं आई है।

ये भी पढ़ें : CM की हितग्राहियों को सौगात, गोधन न्याय योजना के तहत 60 लाख रुपये का होगा भुगतान

 

Advertisement