सर्किल रेट में बढ़ोतरी से नाराज वकीलों का छठे दिन भी कार्य बहिष्कार, धरना जारी

Advertisement

लखीमपुर-खीरी, अमृत विचार। बीते छह दिनों में जिला प्रशासन द्वारा किये गये सर्किल रेट की बढ़ोत्तरी को लेकर नाराज हैं। इसको लेकर लगातार धरना प्रदर्शन करते हुए पुराने सर्किल रेटों को एक बार फिर से लागू करने की मांग पर अड़े दिखायी दे रहे हैं। बता दें कि जिला प्रशासन द्वारा जमीनों के नए सर्किल रेट 1 अगस्त से लागू कर दिए गए हैं। सर्किल रेट में 20 से 30 प्रतिशत तक वृद्धि से नाराज लखीमपुर तहसील बार एसोसिएशन के वकीलों ने मंगलवार को भी कार्य बहिष्कार कर धरना प्रदर्शन जारी रखा।

Advertisement

तहसीन परिसर के रजिस्ट्रार दफ्तर की गेट को घेरकर बैठे वकीलों और दस्तावेज लेखकों ने किसी को भी रजिस्ट्री कार्य के लिए अंदर घुसने नहीं दिया। कार्य बहिष्कार कर धरने पर बैठे लखीमपुर तहसील बार एसोसिएशन के महामंत्री विकेश कुमार तिवारी ने बताया कि जिलाधिकारी ने जिस प्रस्तावित मूल्यांकन सूची को तैयार कराया था, उसे 1 अगस्त से लागू कर दिया गया है। लागू की गई सूची में सर्किल रेट की अत्यधिक बढ़ोत्तरी की गई है।

Advertisement

जिसमें सड़क के रेट को 40 फ़ीसदी से बढ़ाकर 60 फ़ीसदी, 6 मीटर रास्ते को घटाकर 5 मीटर का रास्ता किया गया है। वहीं पूर्व में सर्किल रेट 34 लाख रुपए प्रति हेक्टेयर था उसे 44 लाख रुपए प्रति हेक्टेयर कर दिया गया है, और जो निर्देश दिए गए हैं उन निर्देशों में भी बहुत अधिक वृद्धि की गई है। लखीमपुर तहसील बार एसोसिएशन के वकीलों की मांग की जिलाधिकारी प्रस्तावित मूल्यांकन सूची पर पुनर्विचार करके इसे वापस करें और जिलाधिकारी जब तक इसे वापस नहीं लेते तब तक इसी तरह से बहिष्कार कर हड़ताल जारी रहेगी।

ये भी पढ़ें- लखीमपुर- खीरी: मंडूक तंत्र और श्री यंत्र पर बना मेंढक मंदिर लोगों की आस्था के साथ आकर्षण का केंद्र

 

Advertisement